शहीद को अंतिम विदाई, भारत माता की जय और वंदेमारतम् से गूंजा आकाश..!

छत्तीसगढ़ में बीजापुर के केशकुतूल पेट्रोलिंग पर निकली सीआरपीएफ टीम पर हुए नक्सली हमले में हाथरस जिले का एक जवान शहीद हुआ है। शहीद जवान इंस्पेक्टर मदन पाल सिंह का पार्थिव शरीर शनिवार को उनके निवास अलीगढ़ रोड स्थित गढ़ी तमन्ना के न्यू कॉलोनी में राजकीय सम्मान के साथ लाया गया। शहीद मदन पाल सिंह का पार्थिव शरीर देखकर परिवार के लोगों का रो-रो कर बुरा हाल था। शहीद के सम्मान में उमड़ी भीड़ भारत माता की जय और वंदेमातरम के जयकारे लगा रही थी। जब तक सूरज चाँद रहेगा मदन पाल सिंह का नाम रहेगा, नारा भी बहुत लगाया गया। इसके बाद शहीद जवान के पार्थिव शरीर को मदन पाल सिंह के बड़े बेटे राहुल ने मुखाग्नि दी।

loading...
आपको बता दें कि 28 जून दिन शुक्रवार की दोपहर लगभग 1 बजे छत्तीसगढ़ के बीजापुर के केशकुतूल पेट्रोलिंग पर निकली सीआरपीएफ टीम पर नक्सलियों ने बारूदी सुरंग बिछा रखी थी। जिसके पश्चात नक्सलियों ने जवानों पर आत्मघाती हमला कर दिया। नक्सलियों के हमले में दो जवान मौके पर ही शहीद हो गए और हाथरस के मदन पाल सिंह जख्मी हो गए। घायल मदन सिंह ने जगदलपुर हॉस्पिटल में उपचार के दौरान अपना दम तोड़ दिया। उनके शहीद होने की सूचना दोपहर दो बजे मिली।

23 जून को लौटे थे


शहीद के परिवार में उनकी माँ, पत्नी, बेटा और दो बेटियां है। मदन पाल सिंह सीआरपीएफ में 1986 में भर्ती हुए थे। 23 जून को मदन सिंह अपनी छुट्टी बिताकर घर से वापस छत्तीसगढ़ ड्यूटी पर लोटे थे। इसके पांच दिन पश्चात ही परिजनों को मदन पाल सिंह के शहीद होने की सूचना मिली तो सब हैरान रह गए। शहीद इंस्पेक्टर मदन पाल सिंह का पार्थिव शरीर शनिवार को अलीगढ रोड स्थित गढ़ी तमन्ना के न्यू कॉलोनी स्थित मकान पर राजकीय सम्मान के साथ लाया गया।

नम आँखों से दी श्रद्धांजलि


शहीद जवान को अंतिम विदाई देने के लिए जिले प्रभारी मंत्री उपेंद्र तिवारी, सांसद राजवीर सिंह दिलेर, सिकंदराराऊ विधायक वीरेंद्र सिंह राना, सादाबाद विधायक रामवीर उपाध्याय के साथ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रामजीलाल सुमन तथा पुलिस- प्रशासन के तमाम अधिकारी उपस्थित थे। शहीद को सभी लोगों ने नम आँखों से श्रद्धांजलि अर्पित की।

प्रभारी मंत्री ने दिया चेक

मुखाग्नि के पश्चात जिले के प्रभारी मंत्री उपेंद्र तिवारी शहीद के घर पंहुचे। शहीद की माँ को 5 लाख रुपये का और पत्नी को 20 लाख रुपये का चेक आर्थिक मदद के रूप में दिया। उन्होंने कहा कि हम और हमारी सरकार हमेशा आपका सहयोग करती रहेगी।