ऐसे मिटायें दांतों से तंबाकू, गुटखा, पान मसाले के दाग, मोतियों से चमकेंगे दांत...!

आज हम लोगों की उस समस्या का समाधान बताने जा रहे हैं जिससे अधिक्तर लोग परेशान रहते हैं। हमारे देश में तंबाकू, गुटखा और पान मसाला खाने वालों की संख्या बहुत अधिक है। ये सभी लोग अपने दातों पर पड़े पीले व काले निशानों से अक्सर परेशान रहते हैं। यदि आपके साथ या आपके किसी मित्र के साथ ऐसा हो रहा है तो हम जो उपाय आपको बताने जा रहे हैं वो आजमाकर देख लें। इस तरीके से तम्बाकू और गुटखा खाने से दांतों पर पड़ने वाले दाग को पूरी तरह से मिटाया जा सकता है।

loading...
दांतों पर काले व पीले निशान पड़ने का कारण तम्‍बाकू में उपस्थित निकोटीन है। तम्‍बाकू में उपस्थित निकोटीन धीरे धीरे दातों पर जम जाता है और कुछ दिनों में वो पूरी तरह से दातों पर चढ़ जाता है, जिसे ब्रश से निकालना लगभग नामूमकिन है। किन्तु इसके लिए कुछ आसान उपायों को अपनाना आप अपनी इस समस्या से मुक्ति पा सकते हैं। आपको बता दें कि व्हाइट्नर, शाइनर और विशेष केमिकल्स से दांतों को फिर से चमकाया जा सकता है। डेंटल ब्लीचिंग से दांतों पर गुटखे, तंबाकू आदि से पड़े दाग को आसानी से समाप्त किया जा सकता है।

ये एक ऐसा तरीका है जिससे दातों को बिल्कुल साफ किया जा सकता है और इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता। हालांकि, डेंटल ब्लीचिंग के बाद डेंटिस्ट द्वारा दी गई क्रीम लगानी चाहिए। दांत बहुत सेंसिविट होते हैं, इसलिए इनपर कोई भी दवा या कुछ लगाने से पहले अच्छे डॉक्टर से सलाह लेनी आवश्यक है। ब्लीचिंग के बाद भी कुछ दिनों तक डॉक्टर के बताये मुताबिक़ ही दवा लेनी चाहिए और खान-पान वैसा ही होना चाहिए। तंबाकू, गुटखा और पान मसाला खानो वालों लोगों के मसूढ़ों में दर्द, गले की खराश या सफेद धब्बे आदि की परेशानियां हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। क्योंकि ये कोई अच्छे लक्षण नहीं हैं।

ये तो रही डॉक्टर की थेरेपी किन्तु अब हम आपको दातों से काले व पीले धब्बे हटाने के घरेलू उपाय बता देते हैं। इसके लिए आपको बेकिंग सोडा लगाकर ब्रश से दांतों पर रगड़े। बेकिंग सोडा में चुटकीभर नमक मिलाये और फिर इसे ब्रश से दांतों पर रगड़ने पर दांत जल्दी और पूरी तरह साफ हो जाते हैं। इसके अलावा, दातों से दाग हटाने के लिए भोजन के बाद एक च्यूइंगम को मुंह में डालकर 20 मिनट तक चबाएं। दांतों को चमकाने व दाग धब्बों को हटाने के लिए नींबू या स्ट्रॉबेरी रगड़े। ये सभी कुदरती तरीके हैं जिनका कोई भी साइड इफेक्ट नही है।