भारतीय नारी अवतार में दिखीं बंगाल की यह खूबसूरत अभिनेत्री, संसद मे हर किसी का जीता दिल..!

लोकसभा चुनाव 2019 में इस बार बहुत से नये चेहरे सांसद बने जिसमें सनी देओल से लेकर बंगाली अभिनेत्री नुसरत जहां भी शामिल हैं। इस बार अगर किसी का सांसद आने का मन ना करे फिर भी वे आएंगे क्योंकि अब संसद भवन के अंदर बहुत ही खूबसूरत चेहरा आने वाला है। इन्होंने अपनी शपथ ले ली है तथा अब कार्यभार संभालने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। भारतीय नारी अवतार में दिखीं बंगाल की ये खूबसूरत एक्ट्रेस, संसद मे हर किसी का जीता दिल, हाल ही में हुई है शादी।

बंगाल की ये खूबसूरत एक्ट्रेस, संसद मे हर किसी का जीता दिल

loading...
फिल्म अभिनेत्री और नई सांसद नुसरत जहां का संसद में ‘भारतीय नारी’ अवतार तो हर किसी ने देख लिया और उनकी ये तस्वीर इस वक्त सोशल मीडिया पर हॉट टॉपिक बना हुआ है। मंगलवार को नुसरत जहां ने संसद में ‘भारतीय नारी’ के अंदाज में शपथ ग्रहण किया और ऐसा करके उन्होंने सभी को आश्चर्य कर दिया। नुसरत जहां ने इस मौके पर मांग में सिंदूर लगा रखा था। हाथों में मेंहदी और चूड़ा भी पहन रखा था। इसके बाद सोशल मीडिया पर नुसरत जहां की तस्वीर और वीडियो खूब वायरल हो रहा है और लोगों की इस तस्वीर पर जमकर प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं।

तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीतकर नुसरत जहां लोकसभा पहुंच गईं। चुनाव जीतने के पश्चात उन्होंने अपने दोस्त निखिल जैन के साथ हिंदू पद्धति से शादी कर ली थी। नुसरत ने एक इंटरव्यू में बताया कि शादी की डेट पहले से तय होने के कारण उन्होंने पति के साथ तय समय पर ही शादी की है। सोशल मीडिया पर नुसरत का लुक बहुत वायरल हो रहा है और लोग इस खूबसूरत सांसद को पसंद भी कर रहे हैं। एक यूजर ने उनकी तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, ‘ऐसा लग रहा है कि जैसे कोई परी स्वर्ग से जमीं पर आ गई हो। शादीशुदा जीवन के लिए शुभकामनाएं मैम…लव यू’।

वहीं दूसरे फैन ने लिखा, ‘मुझे मेरी आंख पर विश्वास नहीं हो रहा कि आपका सिंदूर, आपकी मेहंदी आपके ऊपर इतनी खूबसूरत लग सकती हैं। प्योर इंडियन, जिस प्रकार आपने पैर छुए वह सबसे अच्छा था और मैं प्रभावित हुआ। आपको दांपत्य जीवन के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं’। नुसरत जहां एक बंगाली एक्ट्रेस हैं और इस बार वे सांसद बन गई। शादी पहले से तय होने के समय उन्होंने शादी कर ली है। नुसरत जहां राजनीति में आने से पहले फिल्मों में काम करती थीं और उन्होंने शपथ बांग्ला भाषा में ली इसका समापन अंत में वंदे मातरम करके दिया।