रात के वक्त इस मंदिर से आती हैं हंसी-ठिठोली की आवाजें, मगर अंदर जाने पर सब रह जाते हैं दंग...!

यह दुनिया कई तरह के रहस्य और चमत्कारों से भरी हुई है। भले ही आज विज्ञान ने बहुत प्रगति कर ली हो लेकिन आज भी कुछ ऐसी बातें हैं जो विज्ञान की समझ से भी परे हैं। आज तक विज्ञान उन घटनाओं की असल वजह का पता नहीं लगा पाया है। बात करें भारत की तो भारत में कई ऐसे रहस्मयी मंदिर और स्थान हैं जहां पर घटित होने वाली घटनाओं को देखकर विज्ञान भी आश्चर्यचकित रह जाता है। हमने आपको कई ऐसी रहस्यमयी जगहों के विषय में बताया है और आज अपने इस लेख में हम आपको एक और ऐसी ही जगह के बारे में बताने वाले हैं।
loading...
आज हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बताएंगे जिसके बारे में कहा जाता है कि वहां पर रात में सभी देवियां आपस में मिलती हैं और बातें करती हैं। हालांकि जब मंदिर परिसर के अंदर लोगों ने जाकर देखा तो वहां उनको कुछ भी नजर नहीं आता है। बस बातें करने की आवाजें सुनाई देती हैं। बता दें कि ये मंदिर बिहार में स्थित माता राजेश्वरी की है। इस मंदिर में माता राजेश्वरी के अतिरिक्त और भी कुछ देवियां हैं जिनमें बगलामुखी माता, तारा माता, काली, कमला, उग्र तारा, छिन्नमाता, धुमावती, शोडषी सहित दस महाविद्यायाएं निवास करती हैं।

इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि यहां देवियां रात को बातें करती हैं। उनके आपस में होने वाले वार्तालाप, हंसी-ठहाके सभी को सुनाई देती हैं। हालांकि ये बात सुनकर थोड़ी अजीब लग रही है मगर यह एक ऐसा सत्य है जिसे आप नकार भी नहीं सकते हैं। बता दें कि यह मंदिर दिन में तो सामान्य मंदिरों की तरह ही होता है। लोग यहां पर आते हैं और पूजा अर्चना करते हैं परन्तु रात को जो भी उस मंदिक के नजदीक से निकलता है वह उनकी आवाज को आसानी से सुन सकता है।

बता दें कि यहां पर इन देवियों के अतिरिक्त भगवान गणेश, भैरव, शिव का मंदिर भी बना हुआ है। यह मंदिर अपने आप में एक आश्चर्य बना हुआ है। यहां की खूबियों को जानने के बाद भी कभी भी कोई यहां रात में रुकने की हिम्मत नही जुटा पाता। जबकि लोग जो मंदिर के बाहर उन आवाजों को सुनते हैं मंदिर के अंदर जाने पर उनको कुछ भी दिखाई और सुनाई नहीं देता है। और परिसर से बाहर निकलते ही वो आवाजें फिर से सुनाई देने लगती हैं। हालांकि आज तक इससे किसी को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचा है।

मंदिर परिसर के अंदर से आने वाली आवाजों की बात करें तो यह ऐसी ही होती हैं जैसे कुछ लोग आपस में बैठकर बातें कर रहे हैं। वहां के स्थानीय लोगों के लिए यह अब एक आम बात हो चुकी है। वहां के स्थानीय लोगों का मानना है कि यह एक चमत्कार है और उनके नगर पर मां की असीम कृपा है। ऐसा मान्यता है कि यहां पर जो भी व्यक्ति सच्चे और साफ मन से जो कुछ भी मांगता है और पूजा करता है उसकी इच्छा अवश्य पूरी होती है।