आपकी हथेलियों पर बने आधे चांद का पूरा मतलब जानें..!

हस्त रेखा शास्त्र को काफी लोग मानने लगे हैं और आज उच्च शिक्षण संस्थानों में हस्तरेखा विज्ञान को लेकर तमाम तरह की डिग्रियां भी आबन्टित की जा रही है और इसे पढाया जा रहा है। और इस कारण से हस्तरेखा विज्ञान का महत्व भी धीरे धीरे बढ़ता जा रहा है। लोगों का इस विज्ञान में विश्वास बढ़ता जा रहा है। गौर करें, इस पोस्ट के माध्यम से हमारा मकसद किसी प्रकार का अंधविश्वास य भ्रम फैलाना नहीं है बल्कि हस्त रेखा विज्ञान की जानकारी देना है।

loading...
कई धर्मों के पौराणिक ग्रंथों में भी हस्तरेखा एवं उस के फलाफल का महत्व मिलता है। हाथ देख कर, हस्त रेखा पढ कर भविष्य से जुड़ी हुई एवं और जीवन से जुड़ी हुई कई प्रकार की बातें जानी जा सकती हैं।

आप  नीचे जो हाथ की तस्वीर देख रहे हैं उसमें एक ह्रुदय रेखा दिखाई गई है। ये ह्रुदय रेखा आपकी कनिष्क ऊंगली से लेकर अनमिका तथा मध्यमा ऊंगली से आगे जा कर  समाप्त होती है, ये आपके भविष्य के बारे में बताती है।

कई लोगों की हथेली पे आधा चांद बनता है, बिल्कुल नीचे

दिखाई गई  तस्वीर की तरह


यदि ये अर्ध चंद्र बनती है तो इस से पता चलता है की आप चार्मिंग हैं और आप बचपन के अपने दोस्तों के साथ दोस्ती बरकरार रखने वाले इंसान है और हमेशा उन का साथ निभाने का प्रयत्न करते हैं। अमूमन ऐसे लोग दिमाग के चुस्त होते हैं और हर तरह के परिस्थितियों से इनको निपटना आता है।

आपकी हाथों में अगर इस प्रकार की रेखाएं हैं, यानि की बहुत कम रेखाएं होने के साथ-साथ सीधी रेखाएं हैं, तो इस का अर्थ है की आप बहुत ही शांत और साफ़ दिल वाले इंसान हैं।

और अगर आप के हाथों मैं , हथेलियों पर उलट-पुलट रेखाएं बनी हैं तो तो आप बुजुर्गों का सम्मान करते हैं तथा अपने बुजुर्गों के साथ रहना ज़्यादा पसंद करते हैं

हस्तरेखा विज्ञान कहती है की आपका भविष्य आपके ही हाथों में है। आप मेहनत करते जाईये, आप की हाथों की रेखाएं बदलती जायेंगी।