मिलिए देश के सबसे नौजवान IAS अधिकारियों से, जिनके परिवार ने उनके सपनों के लिए छोड़ दिया एक वक्त का भोजन

देश के सबसे प्रतिष्‍ठित तथा चुनौतीपूर्ण एग्‍जाम में से एक है संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा। इस परीक्षा को क्रैक करना आसान काम नहीं होता है मगर कुछ युवा ऐसे भी हैं, जिन्होंने इस मुश्‍किल में न केवल सफलता पाई, बल्‍कि सबसे कम उम्र में  एग्‍जाम पास करने वाले युवा भी बन गए। जी हां मिलिए देश के सबसे युवा IAS से, जिन्‍होंने बहुत कम उम्र में इस एग्‍जाम को क्रैक कर लिया।

loading...
इस लिस्‍ट में सबसे पहला नाम आता है साल 2015 में यूपीएससी की परीक्षा पास करने वाले देश के सबसे छोटी उम्र में आईएएस बनने वाले अंसार अहमद शेख का। शेख ऐसे ही एक व्यक्ति हैं, जिन्‍होंने मात्र 21 साल की उम्र में ये परीक्षा पास की। उनके पिता ऑटो रिक्‍शा ड्राइवर हैं। एक सभा को संबोंधित करते हुए उन्‍होंने कहा था कि उनके पिता एक ऑटो रिक्शा चालक थे, जो 100-150 रुपये प्रतिदिन कमाते थे। कई बार उनका परिवार रात का खाना या नाश्ता छोड़ देता था। अंसार ने कहा था, ‘अल्लाह ने मेरी और मेरे परिवार और दोस्तों की दुआओं को क़ुबूल करते हुए मुझे देश की सेवा करने का यह अवसर दिया है, जिसे मैं पूरी ईमानदारी से निभाऊंगा। वह वर्तमान में MSME और पश्चिम बंगाल सरकार में OSD पर अधिकारी के रूप में कार्यरत है।

अंसार अहमद शेख 


इस लिस्‍ट में दूसरे स्‍थान पर कब्‍जा किया है रोमन सैनी ने। रोमन ने इस परीक्षा को महज 22 वर्ष की उम्र में क्रैक कर लिया था। उन्‍होंने ऑल इंडिया में 18वीं रैंक हासिल की थी। रोमन ने महसूस किया यूपीएससी की कोचिंग लेने पर बहुत खर्च होता है और हर कोई कोचिंग नहीं ले पाता है। इसलिए सिविल सेवा में आने के पश्चात रोमन ने फैसला किया कि वो फ्री ऑनलाइन ट्रेनिंग के जरिये अन्य प्रतिभागियों की मदद करेंगे। इसके लिए उन्होंने 'Unacademy' की शुरुआत की। यह ऑनलाइन कोचिंग की वेबसाइट है, जिसे वो अपने दोस्त गौरव मुंजाल के साथ मिलकर चलाते हैं। इसके बाद उन्‍होंने वर्ष 2015 में अपनी सेवाओं से इस्तीफा दे दिया।

रोमन सैनी 


इस लिस्‍ट में तीसरा स्‍थान राजस्थान के सीकर की रहने वाली स्वाति मीणा नाइक का है। मीणा  22 वर्ष की थीं, जब उन्‍होंने यह एग्‍जाम पास किया। साल 2007 में परीक्षा पास करने वाली स्‍वाति ने ऑल इंडिया 260 रैंक प्राप्त की है। फिलहाल वह मध्य प्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ में सेवारत हैं।

स्वाति मीणा नाइक 


इस लिस्ट में चौथा नाम है IAS अधिकारी अमृतेश औरंगाबादकर का है। अमृतेश ने वर्ष 2011 में यूपीएससी की परीक्षा पास की थी और दसवीं रैंक हासिल की थी। पुणे से ताल्‍लुक रखने वाले अमृतेश ने 22 साल की उम्र में इस परीक्षा में सफलता प्राप्त की थी। साल 2012 बैच के गुजरात कैडर के IAS अधिकारी है। फिलहाल वह गुजरात सरकार में नगरपालिका वडोदरा के क्षेत्रीय आयुक्‍त हैं।

अमृतेश औरंगाबादकर 


अंकुर गर्ग 


इस लिस्‍ट में पांचवा और अंतिम नाम है अंकुर गर्ग का। अंकुर ने साल 2002 में 22 वर्ष की छोटी उम्र में सिविल सेवा परीक्षा में टॉप किया था और यह उपलब्धि हासिल करने वाले सबसे युवा उम्मीदवार बन गए। गर्ग ने आईआईटी-दिल्ली से स्नातक किया है। वर्तमान में प्रतिष्ठित हार्वर्ड विश्वविद्यालय में दो साल का मास्टर कार्यक्रम अपना रहे हैं।