1 माह से दरोगा अपनी बेटी के लाश के साथ रह रहा था, मोहल्ले वालों ने की शिकायत तो...!

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में एक सेवानिवृत्त इंस्पेक्टर ने अपनी बेटी की मौत के पश्चात उसके शव को एक महीने तक घर पर रखा। शव को इस उम्मीद में छिपाकर रखा कि लड़की जिंदा है। हालांकि, लगातार बदबू से परेशान लोगों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। शरीर पूरी तरह से गल गया है।
मामला कटरा कोतवाली के हथिया फाटक का है। रिटायर्ड इंस्पेक्टर दिलावर अपनी पत्नी तथा लड़की के साथ यहां रहते थे। 1 महीने से घर में बदबू आने पर लोगों ने पुलिस को जानकारी दी। वहीं, जब पुलिस मौके पर पहुंची तो रिटायर्ड इंस्पेक्टर ने जांच नहीं करने दी। पुलिस बैरंग वापस लौट गई।
एक बार फिर घर से गंभीर बदबू आने की शिकायत पर जब पुलिस घर में पहुंची, तो रिटायर्ड इंस्पेक्टर के लड़के घर से बाहर आए यह स्वीकार करते हुए कि बहन गिंनर की लाश घर में है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

इस बारे में पुलिस अधीक्षक (एसपी) प्रकाश स्वरूप पांडे ने कहा कि लड़की का शव लगभग एक महीने पुराना है। दोनों मृतक बेटी के साथ रह रहे हैं। पांडे ने कहा कि शव को देखने से लगता है कि मौत प्राकृतिक है, मगर पुलिस अभी भी सभी एंगल से जांच कर रही है।