बिहार में आकाश से गिरा 15 किलो का रहस्यमयी पाषाण, देखने पहुंचे नीतीश कुमार.?

बिहार के मधुबनी जिले के लौकही प्रखंड के गांव के एक खेत मे आकाश से एक अजीबोगरीब पत्थर गिरने की एक घटना सामने आई है। जिले के लौकही थाना स्थित कौरयाही गांव के भगवानपुर चौड़ी में सोमवार दोपहर को एकाएक आसमान से लगभग 15 किलो का एक पत्थर धान के खेत में आ गिरा। आसमान से गिरे 15 किलोग्राम वजन के रहस्यमय पत्थर (उल्कापिंड) को बुधवार को पटना लाया गया है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि सोमवार को मधुबनी के लौकही में आसमान से खेतों में गिरे काले पत्थर को बिहार संग्रहालय में रखा जाएगा, ताकि आम लोग इस पत्थर को देख सकें।

तेज आवाज के साथ पिंड जब खेत में गिरा
loading...
लौकही के कौरियाही-ककहिया बधार में सोमवार दोपहर करीब 12 बजे आसमान से एक पिंड गिरा। गांव के लोगों का दावा है कि यह आसमान से गिरा है। जब यह पत्थर गिरा था तब काफी तेज आवाज हुई थी। प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि तेज आवाज के साथ पिंड जब खेत में गिरा तो धुआं निकलने लगा। गिरने के साथ वह लगभग छह फुट नीचे तक जमीन में चला गया। खेतों में काम कर रहे मजदूर वहां से भाग गए। थोड़ी देर पश्चात जब धुआं निकलना बंद हुआ तो लोग वहां पहुंचे।

पत्थर में चुंबकीय गुण हैं
सूचना के पश्चात लौकही के थानाध्यक्ष ने उस पत्थर को कब्जे में लिया। इस पत्थर में चुंबकीय गुण हैं और यह लोहे को अपनी तरफ आकर्षित करता है। मुख्यमंत्री ने बुधवार को पत्थर को देखने के बाद कहा कि इस पत्थर की जांच कराई जाएगी। लोग इसे संभावित उल्का पिंड बता रहे हैं, जिसमें चुंबकीय शक्ति है। इससे पहले स्थानीय लोगों ने उक्त पत्थर को निकट के ही एक पीपल वृक्ष के नीचे रखकर पूजा अर्चना शुरू कर दी थी।

पत्थर को भेजा जाएगा जांच के लिए
जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक ने मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि कोरियाही चौक के बगल में धान के खेत में आकाश से गिरे काले पत्थर को लेबोरेटरी में जांच के लिए भेजा जाएगा। फिलहाल इसे जिला कोषागार में रखा जाएगा। इसे अहमदाबाद, इसरो या बिहार सरकार के साइंस एंड टेक्नोलॉजी विभाग में भेजा जाएगा।