बवाना में चल रहे दो सेक्स रैकेट का हुआ खुलासा, 4 नाबालिगों को छुड़ाया..!

दिल्ली महिला आयोग ने बवाना में चल रहे दो सेक्स रैकेट का खुलासा करते हुए चार नाबालिग लड़कियों को बचाया है। आयोग का कहना है कि चारों नाबालिग लड़कियों को देह व्यापार के लिए तस्करी करके लाया गया था। आयोग के अनुसार, 9 जुलाई को आयोजित महिला पंचायत में एक नाबालिग लड़की ने सेक्स रैकेट के विषय में शिकायत दी थी। 14 वर्षीय लड़की ने बताया था कि पिंकी नाम की महिला जबर्दस्ती उससे देह व्यापार कराती है। शिकायत पर आयोग की टीम ने पीड़िता से संपर्क किया। लड़की से बातचीत में पता चला कि उसके पिता की मृत्यु हो चुकी है। उसके घर में छोटे भाई-बहन और मां हैं। परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी न होने के बारे में उसने अपने पड़ोस में रहने वाली एक लड़की को बताया।
loading...
जिसने उसे पिंकी नाम की एक महिला से मिलवाया और पिंकी ने उसे देह व्यापार के धंधे में धकेल दिया। जहां कई अन्य लड़कियों से जबरदस्ती देह व्यापार करवाया जाता है। इनमें से कुछ लड़कियों की उम्र तो आठ वर्ष तक है। इस मामले पर कार्रवाई करते हुए महिला आयोग ने तत्काल एफआईआर दर्ज करवाई और मौके पर पीड़ित सहित दो नाबालिगों को छुड़ा लिया। दिल्ली महिला आयोग ने एक हफ्ते में बवाना में संचालित दो अलग अलग सेक्स रैकेट का खुलासा किया, 4 नाबालिग लड़कियों को बचाया, 2 महिला डॉन को गिरफ्तार करवाया।
आयोग के अनुसार, दूसरे मामले में बवाना में महिला तस्कर जैतून के बारे में शिकायत मिली थी। इस पर कार्रवाई करते आयोग ने जैतून के कब्जे से दो नाबालिग लड़कियों को छुड़वाया गया है। इसमें से एक लड़की की उम्र 14 और दूसरी की उम्र 17 साल है। आयोग के अनुसार, 17 वर्ष की लड़की को उसके सगे भाई ने जीबी रोड में 64 नंबर कोठे पर एक महिला को बेच दिया था। सात महीने पहले वह किसी प्रकार वहां से भागने में सफल रही, मगर फिर वह जैतून नाम की महिला के चंगुल में फंस गई, जिसने उसे बंधक बना लिया और फिर से देह व्यापर में धकेल दिया।