पत्नी के साथ सुबह 4 बजे जगन्नाथ भगवान की आरती करते दिखे अमित शाह..!

हाल ही गृह मंत्री बने बीजेपी के प्रमुख नेता अमित शाह आज गुरुवार को सुबह 4 बजे अपनी पत्नी के साथ भगवान की आरती करते हुए नज़र आए हैं। दरअसल वे यह आरती गुजरात राज्य के अहमदाबाद शहर के जगन्नाथ मंदिर में कर रहे थे। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि गुरुवार से ही अहमदाबाद में रथयात्रा की शुरुआत होने वाली हैं।

loading...
गृह मंत्री अमित शाह अहमदाबाद में गुरुवार को सुबह 4 बजे पत्नी सहित भगवान जगन्नाथ के दर पर पहुंचे। अमित शाह ने यहां पर पूजा-अर्चना की और पत्नी सोनल शाह के साथ मंगल आरती गाई। अहमदाबाद में गुरुवार से रथयात्रा की शुरुआत हो रही है। ऐसे में भगवान का आशीर्वाद लेने अमित शाह सुबह 4 बजे अपनी पत्नी सोनल शाह के साथ जगन्नाथ जी के दर्शन को आए थे। उनके आने की एक वजह ये भी थी कि गृह मंत्री बनने के पश्चात उनका ये गुजरात का पहला दौरा था ऐसे में अपनी इस नई पारी की शुरुआत करने के पूर्व वे गुड लक के लिए इश्वर का आशीर्वाद चाहते थे।

इसके पहले ओडिशा में भी रथ यात्रा हुई थी जिसके बाद ही अहमदाबाद में जगन्नाथ जी की रथ यात्रा निकालने का कार्यक्रम रखा जाता हैं। बताते चले कि अहमदाबाद में ये 142वी रथ यात्रा होगी। इस बार की ये रथ यात्रा 17 किलोमीटर लंबी होगी। इतना ही नहीं यात्रा के दौरान मार्ग में एक लाख साड़ियां भी बिछाई जाएगी। बाद में इन साड़ियों को मदिर में दर्शन करने आने वाले नव विवाहित जोड़ो को गिफ्ट कर दी जाएगी। रथ यात्रा के दौरान भगवान जगन्नाथ के अतिरिक्त भक्तों के द्वारा बड़े भाई बलराम और बहन सुभद्रा की पूजा पाठ भी की जाती हैं। यह अहमदाबाद का एक मशहूर त्यौहार हैं जिसमे अमित शाह हर साल शामिल होते हैं। ऐसे में इस बार भी वे अपनी पत्नी सोनाली शाह के साथ पधारे थे। अपनी बीवी के साथ सुबह 4 बजे आरती करने वाला ये विडियो भी अब बहुत वायरल हो रहा हैं। खासकर भाजपा के समर्थक इसे बहुत पसंद कर रहे हैं। इस विडियो को ANI ने अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया हैं। आप भी इसे यहाँ देख सकते हैं।

बताते चले कि लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी को जिताने में अमित शाह की महत्वपूर्ण भूमिका रही हैं। उनके दिमाग और रणनीति की बदौलत भाजपा पूर्ण बहुतमत के साथ दुसरी बार सरकार बनाने में सफल रही हैं। पार्टी को चुनाव में 300 से भी अधिक सीटें मिली थी जो कि अपने आप में एक इतिहास हैं। कई लोगो का मानना हैं कि यह टारगेट अमित शाह के माइंड के बिना प्राप्त करना बहुत मुश्किल था। अमित शाह ने जिस तरह से सभी राज्यों पर फोकस किया और ज्यादा से ज्यादा सीटें हासिल करने की कोशिश की उसकी भाजपा वाले ही नहीं बल्कि अन्य पार्टियों के नेता भी तारीफ़ करते है। हालाँकि ये चुनाव जित जाने के बाद अमित शाह भाजपा के अध्यक्ष के पद से हट गए और उन्होंने गृह मंत्री का कारभार संभाल लिया। इसके बाद कई लोगो को उम्मीद हैं कि इससे भारत और पाकिस्तान के मध्य कश्मीर को लेकर चल रहे हालात सुधर सकते हैं।