सड़क दुर्घटना में घायल युवती की डॉक्टरों ने बचाई जान, 7 सर्जरी के पश्चात काम करने लगा हाथ..!

मरीजों के लिए डॉक्टर भगवान से कम नहीं होते हैं। कई बार ऐसे चमत्कार हो जाते हैं, जो मरीज की जिंदगी को रोशन कर जाते हैं। ऐसा ही मामला मैक्स अस्पताल में सामने आया, जहां सड़क हादसे में घायल युवती की ना केवल जान बचाई, बल्कि बुरी तरह कुचले उसके हाथ को भी 7 आपरेशन के बाद जीवित कर दिया।
loading...
बुधवार को पटपड़गंज स्थित मैक्स हॉस्पिटल के डॉ. मनोज जौहर ने बताया कि करीब दो वर्ष गाजीपुर निवासी युवती कृति किशोर सड़क दुर्घटना घायल हो गई थी। हादसे में उसका दायां हाथ बुरी तरह कुचल चुका था। हड्डी, जोड़, टेंडन, नस, मांसपेशी, खून की नलियां और त्वचा सब चौपट हो चुकी थीं। 29 अगस्त 2017 को मैक्स अस्पताल में जब कृति को घायल अवस्था में लाया गया, उस समय खून के बहाव को रोकना और संक्रमण ना फैलने डॉक्टरों के लिए चुनौती था।
एक ऑपरेशन के बाद जब कृति का जीवन सुरक्षित हो गया तो उन्होंने विशेषज्ञों की टीम के साथ मिलकर दायें हाथ को जीवित करने का निर्णय लिया। चूंकि, कृति की हादसे से पहले शादी तय हो चुकी थी। घटना के कारण विवाह टालना पड़ा। इसलिए सामाजिक स्तर पर भी कृति के सामने काफी चुनौतियां थीं। लगभग सात बार ऑपरेशन के बाद उनके हाथ को वापस जीवित किया गया। 22 जनवरी 2018 को उन्होंने शादी कर ली।

पहली से लेकर आखिरी सर्जरी तक लगभग 8-8 घंटे का वक्त लगा। सबसे पहले उसके अंग को बचा लेने की तत्काल सर्जरी की गई। टीम में प्लास्टिक सर्जरी, एनेस्थेसिया, हड्डी विभाग और धमनी सर्जरी विभाग के विशेषज्ञ थे। इसके पश्चात उसे आईसीयू में रखा गया। मरीज की रिकवरी में 2 वर्ष लगे। पति और परिवार की मदद से वह जल्द ही शारीरिक और मानसिक दोनों आघातों से बाहर निकल आई।