8 घंटे मौत से लड़ता रहा यह ट्रक ड्राइवर, तमाशबीन बने रहे लोग..!

आज के दौर में इंसानियत कहीं गुम सी हो चुकी है। पहले जहां लोग एक-दूसरे का दर्द देखते ही सहायता के लिए आगे आते थे, वहीं अब लोग अपने काम मे इतने व्यस्त हैं कि किसी की कोई परवाह नही। ऐसा ही मंजर सोलन में देखने को मिला, जहां फोरलेन निर्माण में कार्यरत एक ट्रक ड्राइवर अपने फोन को लेने के लिए ढांक पर गया और फिसलन होने के कारण नाले में जा गिरा, जिस कारण उसकी मौत हो गई। मामला सोलन के सलोगड़ा का है जहां एक ट्रक ड्राइवर सुबह 5 बजे से खाई में गिर गया था और 8 घंटों तक जिंदगी और जंग लडऩे के बाद उसकी मृत्यु हो गई।

रेत लेकर सोलन पहुंचा था ट्रक चालक
loading...
बता दें कि सोलन से शिमला तक फोरलेन कार्य में एक ट्रक ड्राइवर रेत लेकर सुबह के समय सोलन पहुंचा था। जैसे ही वह ट्रक से बाहर निकला तो उसका फोन सड़क किनारे गिर गया। सुबह के वक्त बारिश होने के कारण वह फोन लेने के लिए जैसे ही उस जगह पर गया तो वहां फिसलन होने के कारण खाई में जा गिरा और गिरने के कारण उसकी मौत हो गई।
वहीं उसके साथी चालकों का कहना है कि ट्रक ड्राइवर सुबह लगभग 5 बजे रेत लेकर सलोगड़ा पहुंचा था और गाड़ी से उतरते ही उसका मोबाइल सड़क से बाहर गिर गया। बारिश में मोबाइल खराब न हो इसलिए वह खुद उसे लेने खाई की तरफ उतर गया और खाई में जा गिरा।

ट्रक ड्राइवर के नजदीक जाने की किसी ने नहीं उठाई जहमत
अब कयास लगाए जा रहे है कि फिसलन वाली जगह होने के कारण उसका पैर फिसल गया है मगर हद तो इस बात की है कि साथी लोग तब से लेकर अब तक आसपास मंडरा रहे हैं लेकिन कोई उस ट्रक ड्राइवर के नजदीक जाने तथा उसे सड़क एवं हॉस्पिटल तक पहुंचाने की जहमत नहीं उठा सका। 8 घंटे बीत जाने के बाद इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस अधिक्षक सोलन मधुसूदन शर्मा मौके पर पहुंच कर मामले की जांच कर रहे है।