जेल से छूटते ही आकाश विजयवर्गीय ने तोड़ा मौन, हंसते हुए बोले...!

भारतीय जनता पार्टी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का विधायक बेटा खुलेआम मारपीट करने के कारण जेल में चला गया था। हालांकि रविवार को आकाश विजयवर्गीय को सुबह जमानत पर रिहा कर दिया गया। बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय के विधायक बेटे आकाश ने जेल से रिहा होते ही चुप्पी तोड़ दी। खबर के मुताबिक उन्होंने हंसते हुए ये बयान दिया है।

इंदौर में की थी निगम अफसर की पिटाई


loading...
आकाश विजयवर्गीय उस वक्त सुर्खियों में आ गए थे जब उन्होंने इंदौर में सरेआम नगर निगम अफसर की पिटाई कर दी थी। नगर निगम अफसर वहां अतिक्रमण हटाने पहुंचे थे। इसी दौरान अतिक्रमणकारियों के समर्थन में आकाश वहां आ पहुंचे तथा अफसर की बल्ले से पिटाई कर दी थी। इसी के बाद उनको जेल में भेज दिया गया था। हालांकि रविवार को वो जमानत पर बाहर आ गए।

बाहर आते ही सामने आया ये बयान


खबर के मुताबिक आकाश ने जेल से बाहर आते ही चुप्पी तोड़ी दी। मीडिया से वो हंसते हुए बोले कि जेल में वक्त अच्छा बीता। इतना ही नहीं विधायक ने कहा कि उन्होंने जो किया, उस बात का उन्हें कोई अफसोस नहीं है। वहीं ये भी कहा कि वो गांधी जी के दिखाए मार्ग पर चलने का प्रयत्न करेंगे और भगवान से प्रार्थना करते हैं कि मुझे दोबारा बल्लेबाजी करने का अवसर न दे।