अलीगढ़ का दिलशेर प्रतिदिन रामायण पढ़ता था, पड़ोसियों ने पीट दिया..!

यूपी के अलीगढ़ से खबर आ रही है कि यहां एक अधेड़ व्यक्ति को प्रतिदिन रामायण और गीता पढ़ने के लिए उनके पड़ोसियों ने पीट दिया। और पीटा ही नहीं, लोगों ने उनका हारमोनियम भी तोड़ दिया और उनसे उनकी किताबें छीनकर ले गए।

loading...
पूरी घटना क्या है? अलीगढ़ में शाहजमल नाम का मोहल्ला है। यहां 55 वर्षीय दिलशेर रहते हैं। यदि ऐसी खबरों में धर्म जानना ज़रूरी हो तो नाम से धर्म का अंदाज़ लगा लीजिये। दिलशेर एक फैक्ट्री में सुरक्षा गार्ड की नौकरी करते हैं। खबरें बताती हैं कि दिलशेर का रोज़ का काम ये रहा है कि वे फैक्ट्री से रोज़ अपने घर लौटते हैं। अपना हारमोनियम लेकर गीता तथा रामायण का पाठ करते हैं।

4 जुलाई को भी यही हो रहा था। वे अपनी रात की शिफ्ट से अपने घर लौटे। करीब सुबह 9 बजे। घर पर बैठकर गीता पढ़ रहे थे। इसके पश्चात समीर, ज़ाकिर और साथ के कुछ और युवकों ने घर में घुसकर दिलशेर के साथ मारपीट की। मारपीट ही नहीं, बल्कि दिलशेर का हारमोनियम तोड़ दिया। साथ ही वे किताबें भी उनसे छीनकर ले गए, जिन्हें वे रोज़ाना पढ़ते हैं।

मैं मुस्लिम हूं मगर मेरा धर्म किसी और धर्म की पवित्र किताबें पढ़ने से मुझे रोकता नहीं है। देहली गेट पुलिस थाने में आरोपी समीर और ज़ाकिर के साथ अज्ञात युवकों के खिलाफ आईपीसी की धारा 298 (धार्मिक भावनाएं आहत करने), 323 (मारपीट करने और चोट पहुंचाने), 452 (गलत इरादों से घर में घुसपैठ करने), 504 (शांति भंग करने की कोशिश करने) तथा 506 (आपराधिक कामों) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

देहली गेट के पुलिस अधिकारी इन्नेद्रेश पाल सिंह ने मीडिया को खबर दी है कि इस मामले की तफ्तीश हो रही है, और आरोपियों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई की जाएगी। खबरें हैं कि पुलिस ने एक आरोपी को हिरासत में ले लिया है।