डकैत जगन गुर्जर-पुलिस के मध्य एनकाउंटर, डकैतों ने फेंके हथगोले, महिलाओं को निर्वस्त करके घुमाया था पूरे गांव में..!

राजस्थान के कुख्यात डकैत जगन गुर्जर द्वारा धौलपुर जिले के गांव करनपुर-सायका पुरा में महिलाओं को नंगा करके घुमाने का मामला सामने आने के पश्चात पुलिस ने उस पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। दस्यु जगन गुर्जर की तलाश में राजस्थान पुलिस की कई टीमों ने चंबल के बीहड़ों में दबिश दी तो डकैतों से आमना-सामना हो गया। एनकाउंटर में जगन गुर्जर गिरोह के डकैतों ने पुलिस पर हथगोले फेंके तथा भयंकर फा​यरिंग की। दोनों ओर से 70 राउंड से भी ज्यादा गोलियां चलाई गई हैं। 12 जून को गांव करनपुर सायकापुरा में बंदूकों के बट से मारपीट कर महिलाओं को निवस्त्र घुमाने और दुकानदारों पर हमला करने के बाद पुलिस भी चंबल के बीहड़ों में उतर आई है। गुरुवार और शुक्रवार शाम को पुलिस और डकैतों के मध्य कई गांवों में मुठभेड़ हुई है।
loading...
गुरुवार शाम को पुलिस को खबर मिली थी कि जगन गुर्जर और उसके गिरोह के लोग बसई डांग इलाके के गांव डाबिर में आए हुए हैं। इस पर बसई डांग, बाड़ी थाना और क्यूआरटी पुलिस की दो टीमें पूरे दल बल के साथ गांव डाबिर पहुंची तो पुलिस पर जगन गिरोह के डकैतों पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई। जवाब में पुलिस ने भी गोलियां दागीं। पुलिस टीम की तरफ से 30 राउंड तो डकैतों ने 40 राउंड फा​यरिंग की। इसी दौरान जगन गिरोह के लोग वहां से भाग गए। पुलिस का दावा है कि उन पर फायरिंग करने वालों में डकैत जगन, उसके भाई लाल सिंह, पप्पू उर्फ पान सिंह, केशव और तीन चार अन्य शामिल थे।

एनकाउंटर का दूसरा दिन : डांग क्षेत्र का गांव मंगलपुरा
दूसरे दिन शुक्रवार शाम को राजस्थान पुलिस को फिर सूचना मिली ​कि जगन और उसका गिरोह चंबल ​बीहड़ के गांव मंगलपुरा के जंगलों में आया हुआ है। पुलिस वहां पर पहुंची तो इस बार 25-25 हजार रुपए के ईनामी डकैत रामविलास तथा भरत गुर्जर से मुठभेड़ हो गई। डकैतों और पुलिस के बीच रात को रुक-रुककर फायरिंग होती रही। इसी दौरान डकैतों ने पुलिस पर हथगोले फेंके। खुद धौलपुर एसपी अजयसिंह भी मुठभेड़ का माेर्चा संभाले हुए थे

जगन ने करनपुर-सायका में इसलिए बरसाया कहर
गौरतलब है कि हाल ही जेल से छूटकर आए डकैत जगन गुर्जर ने मुखबिरी किए जाने के शक में गांव करनपुर-सायकापुरा में एक व्यक्ति के घर पहुंचकर दहशत फैलाई थी। घर में उपस्थित महिलाओं व बच्चों से मारपीट की और कथित तौर पर महिलाओं को बंदूकों के बटों से मारपीट कर निवस्त्र करके गांव में घुमाया। महिलाओं को अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा है।