पेट दर्द से पीड़ित था व्यक्ति, डॉक्टरों ने किया ऑपरेशन तो निकली ऐसी चीज़ें जान कर रह जाएंगे हैरान..!

वक्त के साथ-साथ लोगों की आदतें भी बदलती जा रही हैं। अब जब आदत बदल रही हैं तो लोगों की बीमारियाँ भी बदल रही हैं। आज के समय में कई ऐसी बिमारियों के बारे में सुनने को मिलता है जो आज से पहले कभी किसी ने नहीं सुना होगा। हर रोज लोग तरह-तरह की बिमारियों से घिरते जा रहे हैं। आज हम आपको एक व्यक्ति के ऐसे ही अजीबो-गरीब बीमारी के विषय में बताने जा रहे हैं। अक्सर आपने यह सुना होगा कि कुछ बच्चे गलती से खेलते समय सिक्का निगल जाते हैं। इसके बाद डॉक्टरों की सहायता लेनी पड़ती है।

loading...
मगर महाराष्ट्र के पालघर जिले में 50 साल के एक व्यक्ति का मामला हैरान करने वाला है। मेटलफ्रेजिया नाम की बीमारी से ग्रस्त इस व्यक्ति को मेटल की चीजें और सिक्के खाने की आदत लग गयी थी। एक दिन पेट में दर्द की शिकायत लेकर वह डॉक्टरों के पास पहुँचा तो डॉक्टरों ने जाँच की। डॉक्टरों ने जो उसके पेट में देखा, देखकर आश्चर्य हो गए। दरअसल व्यक्ति के पेट में कुछ और नहीं बल्कि सिक्के, नाख़ून और पत्थर के टुकड़े थे। बताया जा रहा है कि मानसिक बीमार संबल को लम्बे समय से सिक्के खाने की आदत थी।

इसी वजह से वह हर वक्त उल्टी और अपच की बीमारी से ग्रस्त रहता था। डॉक्टरों ने संबर को परेशानी से निजात दिलाया। सर्जरी के बाद डॉक्टरों ने उसके पेट से कुल 72 सिक्के बाहर निकाले। डॉक्टरों ने बताया कि वह मेटलफ्रेजिया नाम की बीमारी से ग्रस्त था। इसकी वजह से मरीजों को मेटल की चीजें निगलने की आदत लग जाती है। डॉ. अमित केले अगुवाई में डॉक्टरों की टीम ने सांबर की सर्जरी की। संबर ने बताया कि वह पिछले 20 वर्षो से गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल नाम की बीमारी से ग्रस्त है और शारीरिक विकार पीका से परेशान है।

आपको बता दें जो भी व्यक्ति पीका से ग्रसित होता है उसे पोषण रहित चीजें खाने की प्रबल इच्छा होती है। इसी वजह से संबर को मेटल की चीजें तथा सिक्के खाने की आदत लग गयी। डॉ. केले ने बताया कि कुछ सिक्के प्राकृतिक पाचन क्रिया के दौरान निकल जाते थे, जबकि कुछ शरीर में ही रह जाते थे। इसी वजह से उसे उल्टी और अपच की शिकायत रहती थी। साढ़े तीन घंटे चली एंडोस्कोपिक सर्जरी के बाद संबर की स्थिति में सुधार है। जल्द ही उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी।