दो बच्चों का गला घोंटकर पति-पत्नी ने भी दे दी जान, पूरा गांव समझ नहीं पा रहा मौत का कारण..!

वो क्यों दोनों मर गए। क्यों बच्चों का गला घोंटकर मार दिया। पूरा परिवार सदैव खुश रहता था। किसी से कभी कोई गिला शिकवा नहीं था। फिर ना जाने क्यों इतना बड़ा और खौफनाक कदम उठा लिया। पलभर में हंसता-खेलता पूरा परिवार समाप्त कर डाला। इन सारे सवालों के जवाब राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के गांव मालका खेड़ा में किसी को नहीं मिल रहे।
loading...
दरअसल, भीलवाड़ा के गांव मालका खेड़ा में एक ही घर में पति-पत्नी व दो बच्चों की लाश मिली हैं। शुक्रवार शाम को रामेश्‍वर अपने बेटे सुरेश माली के घर गई तब घटना का पता चला। माण्‍डल थाना प्रभारी गजेन्‍द्र सिंह नरूका ने बताया कि मालका खेडा ग्राम से शुक्रवार को सूचना मिली कि कमरे में एक ही परिवार के चार लोगों के शव पड़े हैं। मौके पर पहुंचकर जांच की गयी तो सामने आया कि सुरेश माली और उसकी पत्नी रतनी ने पहले अपनी 5 वर्षीय पुत्री पायल और 2 वर्षीय पुत्र योगेश को गला घोंटकर मार दिया और फिर सुरेश व रतनी ने फांसी लगाकर जान दे दी। शुरुआती जांच में मामला बच्चो की हत्या व दम्पती की आत्महत्या का लग रहा है, लेकिन इसकी वजह का पता नहीं चल पाया है।

एक साथ हुआ चारों का अंतिम संस्कार

शुक्रवार रात को पुलिस ने पति पत्नी व बच्चों के शव सरकारी हॉस्पिटल के मुर्दाघर में रखवाए। शनिवार सुबह पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिए। दोपहर को एक साथ एक ही चिता पर चारों का अंतिम संस्कार किया गया। गांव में चारों की अर्थियां उठी तो पूरे गांव के लोगों की आंख में आंसू आ गए।