पानी निकासी के लिए मां की उजाड़ दी कोख, पेट पर इतना मारा कि मासूम की हो गई मृत्यु..!

नाली का पानी निकालने जैसे मामूली विवाद ने संसार में आने से पहले ही एक मासूम की जान ले ली। आरोप है कि आपसी मारपीट में महिला के गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत हो गई। इसके बाद झगड़े में घायल हुई महिला का जीवन बचाने के लिए आपात स्थिति में गर्भपात कराया गया। मन को कचोटने वाली यह घटना खटीकान स्कूल के पीछे स्थित वार्ड संख्या तीन की है। जिसकी पुलिस जांच पड़ताल कर रही है।

loading...
पुलिस के अनुसार मोहल्ला खटीकान के सांवरमल पुत्र हनुमान प्रसाद ने रिपोर्ट दी है कि उसके यहां मकानों का काम चल रहा था। आरोप है कि इस दौरान उनकी नाली को लेकर पड़ोसी जगदीश से झगड़ा हो गया। इसके बाद जगदीश, अजय, कविता, बनारसी देवी आदि लाठी व सरिए लेकर आए और उसके घर में घुस गए और कहा कि नाली रास्ते में नहीं निकालोगे। इस पर उन्हें कहा गया कि नाली रास्ते में नहीं निकालेंगे तो उनके घर का पानी कैसे निकलेगा। इतना सुनने के बाद इन लोगों ने सांवरमल व उसके परिवार के साथ मारपीट शुरू कर दी।

सांवरमल का कहना है कि इस दौरान जब उसकी पत्नी नीतू उसे छुड़ाने आई तो जगदीश ने उसके पेट पर मुक्के मारने लगा। जिसके वजह से उसकी गर्भवती पत्नी के पेट में चोट लगी और दर्द होने पर वह नीचे गिर पड़ी। इसके बाद अड़ोस-पड़ौस के लोग छुड़ाने आए तो मारपीट करने वाले मौके से भाग छूटे। सांवरमल का आरोप है कि इसके बाद वह अपनी पत्नी नीतू को लेकर अस्पताल चला गया। यहां उसको भर्ती करने के पश्चात चिकित्सकों ने उसको बताया कि नीतू के पेट में पल रहे बच्चे की मौत हो चुकी है। ऐसे में उसकी पत्नी की जान बचाने के लिए सफाई करनी पडेग़ी और मृत बच्चे को बाहर निकालना पडेग़ा। इस पर मुझे मेरी पत्नी की सफाई करनी पड़ी और नाली के विवाद में उसके नवजात बच्चे की मृत्यु हो गई। घटना के बाद से उसकी पत्नी नीतू भी सदमें में है और पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर रही है।

आए और करने लग गए मारपीट

पुलिस के अनुसार दूसरे पक्ष के भी अजय पुत्र जगदीश ने रिपोर्ट दे रखी है। जिसमें उसका कहना है कि उसकी दादी और मां दुकान पर बैठी थी। एकाएक पड़ोसी हनुमान प्रसाद, सांवरमल, सुभाष, दीपक, गीता व किरन एक राय होकर आए और गाली-गलौच करने लगे। आरोप है कि इसके बाद इन लोगों ने उसके पिता व दादी के साथ मारपीट की। बीच-बचाव में उसे भी चोट लगी। अजय के अनुसार मारपीट के बाद उसके पिता जगदीश को एसके अस्पताल में भर्ती कर दिया गया। आरोप है कि पड़ोसी उनके साथ रंजिश रखते हैं और घटना के पश्चात भी इन लोगों ने उसके परिवार वालों पर पत्थर फेंके थे।

नाली बनाने के विवाद के बाद दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर क्रॉस मुकदमे दर्ज करा रखे हैं। जिनके विषय में पुलिस पूछताछ कर रही है। जांच के बाद दोषी पाए जाने वाले के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी