थाने में ससुर के खुलासे से चौंक गए पुलिस वाले, कहा-इसलिए किया अपनी बहू का ये हाल..!

loading...
दिल्ली के पहाड़गंज इलाके में सनसनीखेज वारदात सामने आया है। बता दे जहां बहू के साथ हुए मामूली विवाद में झगड़ा इतना ज्यादा बढ़ गया कि 65 वर्षीय ससुर ने बहू की हत्या कर दिया। बताया यह जा रहा है कि सोमवार की रात बहू और ससुर के बीच बिजली के बिल और बल्ल निकालने को लेकर विवाद हुआ। जबकि, इसी दौरान ही ससुर को अचानक इसकदर गुस्सा आ गया कि उसने रसोई में रखे चाकू से बहू के गले में वार कर दिया। बता दे इस हमले में 33 वर्षीय बहू की मौके पर ही मृत्यु हो गई। एक जानकारी के मुताबिक, इसके बाद आरोपी ससुर पुलिस स्टेशन पहुंचा और पूरे वारदात की जानकारी पुलिसकर्मियों को दिया, इसके साथ ही आत्मसमर्पण भी कर दिया। फिलहाल अभी पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज करके आरोपी को गिरफ्तार किया है और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

बल्ब निकालने को लेकर हुआ झगड़ा
पुलिस ने यब बताया है कि मृतक औरत की पहचान 33 वर्षीय नीरज देवी के तौर पर हुई है। जबकि, वहीं आरोपी व्यक्ति का नाम 65 वर्षीय भगत राम है। बता दे पुलिस के मुताबिक, मृतका नीरज देवी का अपने पति से विवाद चल रहा जिसके वजह से वो पिछले करीब 7 वर्ष से गुरुग्राम में रह रहे थे। बता दे औरत का अपने पति के साथ तलाक का मामला तीस हजारी कोर्ट में विचाराधीन है। जबकि, कोर्ट के आदेश पर वह पत्नी को गुजारा भत्ता देते थे। वही दूसरी ओर नीरज देवी अपने 10 वर्षीय बेटे के साथ ही सास-ससुर के पास पहाड़गंज इलाके के चूना मंडी की गली संख्या पांच में रहती थीं। वही बेटे के साथ बहू के झगड़े और उसके अलग रहने से सास-ससुर बहुत ही ज्यादा नाराज रहते थे।

अक्सर ही झगड़ा करती थी बहू, ससुर ने रेत दिया बहू का गला
बताया यह जा रहा है कि, बहू नीरज देवी की अक्सर अपने सास-ससुर से झगड़ा होता रहता था। जबकि, घटनाक्रम में घर के बिजली का बिल करीब 6 हजार आने पर 65 वर्षीय भगत राम ने इसको लेकर सवाल खड़े किए। यही नहीं उन्होंने बहू नीरज देवी से बिजली का कम उपयोग करने के लिए भी कहा, जिससे नीरज देवी नाराज हो गई कि उसने घर के सारे बल्ब ही निकाल दिए। जिसके वहज से घर में अंधेरा हो गया। जबकि, सास-ससुर को अंधेरे में काम करना पड़ रहा था इसी दौरान सोमवार रात को बल्ब निकालने के लिए उनके बीच कहासुनी हुई।

हत्या के बाद ससुर ने थाने में जा कर किया चौंकाने वाला खुलासा
इसी दौरान गुस्से में आकर भगत राम ने घर में उपयोग चाकू से नीरज पर हमला कर दिया। चाकू उसके गला में लगा जिससे उसकी तुरन्त ही मृत्यु हो गई। इसके बाद भगत राम थाने पहुंचे और सरेंडर करते हुए अपना जुर्म कबूल किया। जबकि, उन्होंने पुलिस को यह भी बताया है कि उनकी बहू अक्सर झगड़ा करती थी जिससे वो बहुत ही ज्यादा परेशान रहते थे। हालिया घटना में बल्ब निकालने से उन्हें उम्र अधिक होने की वजह से परेशानी होती थी। इसी को लेकर उन्होंने बहू को समझाने की भी प्रयाश की लेकिन झगड़ा बढ़ा और गुस्से में उन्हें यह कदम उठाना पड़ गया।