रेलवे में नौकरी करने वाला राजेश कैसे बना ‘सोनिया’ ? प्रारंभ हो गई इसकी जांच पड़ताल..!

भगवान ने इस दुनिया में तीन कैटेगरी बनाई है एक महिला, दूसरा पुरुष और तीसरा किन्नर। लेकिन इनके अलावा दुनिया में बहुत से ऐसे भी लोग हैं जो दिल से कुछ और लेकिन शरीर से कुछ और हैं। कुछ लड़के हैं जो अंतर-आत्मा से लड़कियां हैं और कुछ ऐसी लड़कियां भी हैं जो स्वयं को लड़की मान ही नहीं पाती। ऐसी ही एक कहानी उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से सामने आई है। इसमें रेलवे में नौकरी करने वाला राजेश कैसे बना ‘सोनिया’ ? इसके पीछे क्या कहानी है आपको अवश्य जानना चाहिए।

रेलवे में नौकरी करने वाला राजेश कैसे बना ‘सोनिया’ ?
loading...
पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर के महाप्रबंधक कार्यालय में एक अनोखा किस्सा सामने आया है जिसमें चार बहनों का एकलौता भाई राजेश पांडे है तथा वो रेलवे में साल 2003 से काम कर रहा है। घरवालों ने उसकी शादी करवा दी मगर फिर भी वो ना खुश रहता था और ना ही उससे पत्नी भी खुश रहती थी। एक दिन उसने अपनी पत्नी को अपने दिल का सारा हाल बता दिया और फिर दोनों ने सहमति से तलाक ले लिया।
इसके बाद वो बहुत गुमसुम रहने लगा और उसने घऱवालों को अपना हाल बताना चाहा तो कोई समझ नहीं पाया। इसके पश्चात उसने साल 2017 में अपना लिंग बदलवा दिया और राजेश से सोनिया बन गया। इज्जतनगर मुख्य कारखाना प्रबंधक कार्यालय में तकनीकी ग्रेड-1 पर तैनात कर्मचारी राजेश ने सरकारी अभिलेखों में अपना नाम और लिंग बदलवाने के लिए आवेदन भेजा है।
आदित्य योगी नाथ के शहर गोरखपुर में पहली बार ऐसा मामला आया है और पूर्वोत्तक रेलवे इज्जत नगर मंडल में राजेश पांडे नौकरी करते थे। उनकी 4 बहनों और मां को जब इन सबके विषय मे पता चला तो वे नाराज हो गए वहीं रेलवे के अधिकारी इस मामले को सुनकर चौंक गए थे। राजेश से सोनिया बने रेलवे के कर्मचारी ने बताया कि लिंग परिवर्तन का विचार जब उसने परिवार वालों को बताया तो वे नाराज हो गए। लेकिन धीरे-धीरे सब ठीक हो गया और यात्रा के दौरान पुरुष पहचान पत्र और स्त्री का चेहरा होने के कारण उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ने लगा। इस वजह से उन्हें सबकुछ ठीक कराना है।

मन से महिला हैं राजेश
राजेश उर्फ सोनिया ने बताया कि उनका शरीर पुरुष जैसा था मगर उनका मन महिलाओं जैसा रहने लगा था। परिवार के लोगों ने उनकी शादी तो कराई लेकिन वो शादी किसी काम की नहीं थी। तलाक लेने के पश्चात साल 2017 में बहुत परेशान होकर राजेश ने लिंग परिवर्तन करवा लिया और सोनिया पांडे बन गया। इस संबंध में पूर्वोत्तर रेलवे के पीआरओ चंद्र प्रकाश चौहान ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए बताया कि ये तकनीकी मामला है। इसके कानूनी पहलूओं को देखा जाएगा और फिर राजेश के आवेदन को नियमानुसार बदलना है कि नहीं इस पर कार्यवाही होगी।