सात महीने के बच्चे को खाट में बैठाकर मां ने लगा ली फांसी, सांस थमते ही चीखकर रोने लगा मासूम बच्चा..!

पुरैना स्टोर पारा कृष्णा चौक के पास रहने वाली एक महिला ने बुधवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सात महीने के बच्चे के रोने की आवाज सुनकर परिजन दौड़े, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। जीआरपी थाना पुलिस ने बताया कि घटना सुबह 10 बजे की है।
loading...
पूजा बाग (21 वर्ष) सास और ननद के साथ घर पर ही थी। पति और ससुर ड्यूटी चले गए थे। वह सात महीने के बच्चे के साथ बेडरूम में थी। अचानक बच्चे के रोने की आवाज आई। उसकी ननद लीला देवी (17 वर्ष) दौड़कर अपनी भाभी के कमरे में गई। देखा तो पूजा दुपट्टे से फंदा बनाकर झूल रही थी। चिल्लाकर अपनी मां सरिता बाग को बुलाया। पास पड़ोस के लोग भी पहुंच गए। तत्काल फंदे को हसिया से काटकर पूजा को नीचे उतारा। तब तक उसकी सांस रूक चुकी थी।

पुलिस कर रही जांच
नवविवाहिता की खुदकुशी की पुलिस गंभीरता से जांच कर रही है। मृतिका पूजा के पति तथा ससुरालियों से पुलिस ने पूछताछ की है। इतने छोटे बच्चे को छोड़कर फांसी लगाने की बात से पूरे मोहल्ले में शोक है। पड़ोसियों ने बताया कि पूजा बहुत सरल स्वभाव की थी। आत्महत्या करने का सोच रही इस बात की किसी को भनक तक नहीं लगी।

गार्डन में लगे पौधे को रौदने से मना किया तो हुई मारपीट
दुर्ग के शिक्षक नगर गार्डन में सैर सपाटे के लिए पहुंची दो युवतियों को वहां रोपे गए पौधों को रौंदने से इनकार करने के दो दिन बाद उसी बात को लेकर मारपीट हो गई। इस मामले में शिक्षक नगर गार्डन के निकट रहने वाले मधुर सोनी की शिकायत पर सिकोलाभाठा निवासी बाबी के खिलाफ मारपीट करने और गाली गलौज करने की धारा के तहत एफआइआर दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक रविवार शाम को शिक्षक नगर गार्डन में दो युवतियां टहल रही थी। दोनों गार्डन में लगे पौधों को पैरों से रौंद रही थी। नजर पड़ने पर मधुर ने दोनों को गार्डन से बाहर निकाला। इसी बात को लेकर मंगलवार रात 9 बजे बाबी ने मारपीट की।