क्यों है इन देशों में लड़की होकर जन्म लेना एक अभिशाप, सच जान के रोंगटें खड़े हो जाएंगे आपके...?

जहां कुछ देशों में लड़कियों को देवी माना जाता है और उसकी पूजा की जाती है, वहीँ कुछ ऐसे भी देश है जहाँ लड़कियों का जीवन एक अभिशाप से काम नहीं है। इन देशों में लड़कियों की हालत किसी जानवर से भी बदत्तर है, लड़कियों को यहाँ केवल भोग का स्वरुप माना जाता है।
loading...
इनकी शादी बहुत ही कम उम्र में कर दी जाती है वो भी बिना इनकी मर्ज़ी जाने। शादी को जहाँ दो लोगों के सुंदर मिलन की प्रथा माना जाता है वहीँ कुछ देश ऐसे भी हैं जहाँ शादी की परिभाषा बिल्कुल अलग है। आज हम आपको बताने जा रहें हैं कुछ ऐसे ही देशों के बारे में जहाँ लड़कियों के हालात जान आपके भी रोंगटें खड़े हो जाएंगे।

अफगानिस्तान
इस देश में लड़की होकर पैदा होने का मतलब है की आप जीते जी नर्क में पहुंच गयें हों। लड़कियों की शादी यहाँ काफी कम उम्र में करवा दी जाती है और वो पूरी जिंदगी अपने पति और परिवार का गुलाम बनकर ही जीवन व्यतीत करती है। ना वो कोई फैसला ले सकती है और ना बिना इजाज़त कही आ- जा सकती है। कहना गलत नहीं होगा की लड़की बन के पैदा होना सच में इस देश में एक अभिशाप से कम नहीं है।

अमेरिका
वैसे तो दुनिया भर में अमेरिका का नाम सबसे अधिक विकसित देशों में शुमार है लेकिन कुछ मामलों में ये आज भी पिछड़ा हुआ ही है। खुद को हर चीज़ में अव्वल दर्जे का समझने वाला ये देश वास्तव में काफी छोटी सोच रखता है। अमेरिका के वर्जिनिया और मैसाचुसेट्स में लड़कियों की हालत बहुत ही ज्यादा ख़राब है, शिक्षा के मामले यहाँ के लोग बहुत पिछड़े हुए है ,और आज भी लड़कियों की शादी उनके बालिग होने से पहले ही कर दी जाती है जिस वजह से वो कम उम्र में ही प्रेग्नेंट हो जाती है और कभी-कभी इस दौरान लड़कियों की मृत्यु भी हो जाती है।

दक्षिणी सूडान
यहाँ के हालात इतने बुरे हैं की यहाँ लड़कियों की शादी 18 से भी कम उम्र में ही कर दी जाती है, अधिकतर लड़कियों की शादी तो 10 से 12 वर्ष की कम उम्र में ही कर दी जाती है। इस देश में गरीबी और अशिक्षा बहुत ज्यादा है, इसके साथ ही लिंग भेद जैसी समस्या भी यहाँ आम है।

बांग्लादेश
भारत का ये पड़ोसी देश भी अशिक्षा और बाल विवाह के मामले में किसी से कम नहीं है। वैसे तो बांग्लादेश में बाल-विवाह को कानूनन रूप से बंद करवा दिया गया है मगर आज भी लगभग 66 प्रतिशत लड़कियों की शादी बहुत ही कम उम्र में करवा दी जाती है। लड़कियों को यहाँ किसी भी प्रकार की मौलिक आज़ादी नहीं हैं, उन्हें सिर्फ शोषण का वस्तु समझा जाता है।

मलावी
ये एक ऐसा देश है जहाँ लड़िकियों की शादी सरकार के आदेश के खिलाफ जाकर कम उम्र में ही करवा दी जाती है। यानि सरकार के आदेश का यहाँ कोई मोल नहीं है, लोग अपनी छोटी सोच के आगे किसी की नहीं सुनते। लड़कियों का शारीरिक और मानसिक शोषण होना यहाँ एक आम बात है। यहाँ के पुरुष प्रधान समाज में औरतों को किसी भी प्रकार का अधिकार नहीं दिया जाता। वास्तव में लड़कियों की जिंदगी यहाँ किसी सज़ा से कम नहीं है।

इराक
यहाँ लड़कियों के हालात बहुत ही चिंताजनक है क्योंकि कम उम्र की लड़कियों की शादी यहाँ उनसे तीन गुने उम्र में बड़े आदमियों से जबरन करवा दी जाती है। यहाँ का आलम ये है की कुछ लड़किया तो शादी से पहले ही आत्महत्या कर लेती हैं और कुछ शादी के बाद प्रताड़नाएं ना झेल पाने की वजह से। लड़कियों को ना तो स्कूल भेजा जाता है और ना ही घर पर किसी तरह की तालीम दी जाती है। एक रिपोर्ट के अनुसार इन देशों में प्रतिदिन लगभग 40000 हज़ार लड़कियों की शादी 18 से भी कम उम्र में कर दी जाती है। दुनिया के लिए ये एक गंभीर चिंता का विषय है।