ढाई साल बाद मिले जिगरी दोस्त, शराब पीते पीते उस लड़की की बात चलते ही हुआ एक का मर्डर..!

राजस्थान में सीकर जिले के खंडेला की तिवाड़ी की ढाणी के युवक विक्रमजीत शर्मा की हत्या का झुंझुनूं पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। इसके साथ ही हत्या करने वाले युवक तंवरजी की कोठी वार्ड नंबर 11 उदयपुरवाटी निवासी ओम प्रकाश सैनी उर्फ बॉबी गिरफ्तार भी कर लिया है। गौरतलब है कि रविवार को उदयपुरवाटी में एक युवक का शव मिला था। युवक का चेहरा पत्थरों से बुरी तरह से कुचला हुआ था ताकि शिनाख्त नहीं हो सके। घटना की गंभीरता को देखते हुए जिला पुलिस अधीक्षक गौरव यादव ने भी घटनास्थल का दौरा किया था। इस दौरान आस-पास जब पुलिस ने सर्च अभियान चलाया तो एक आईडी कार्ड मिला और इसके आधार पर युवक की शिनाख्त हो सकी थी।
loading...
पुलिस के अनुसार दोनों युवक 3 वर्ष पहले खास दोस्त है और एक लड़की को लेकर दोनों की दोस्ती में दरार पड़ गई थी। इसके पश्चात दोनों अलग अलग हो गए थे और इन ढाई साल के दरमियान कभी नहीं मिले थे। रविवार को यह दोनों वापस मिले और एक जगह बैठकर शराब पी। इसी दौरान पुरानी बात को लेकर वापस वाद विवाद हो गया और आरोपी युवक ने मृतक के सिर पर बीयर की बोतल मार दी।

इससे युवक बुरी तरह से जख्मी हो गया है तो उसके बाद पत्थरों से लगातार वार कर हत्या कर दी। इसके बाद मुंह पर भी पत्थरों से वार किए। इस प्रकार से शव मिलने से उदयपुरवाटी क्षेत्र में और पुलिस पर इसे खोलने को लेकर खासा दबाव था। कई तरह के एंगल से जांच कर रही थी पुलिस युवक के बैग से बच्चों के मनोरंजन के लिए बनाए गए 2000 के नकली नोट भी मिले थे।
ऐसे में पुलिस इस एंगल से भी हत्याकांड का खुलासा करने में लगी थी कि कहीं लूट के लिए तो हत्या नहीं हई है। आरोपी युवक पहले विक्रम के सम्पर्क में भी नहीं था और इसलिए पुलिस को उसे राउंडअप करने में खासी मुश्किल का सामना करना पड़ा। उनकी आपस में बातचीत भी नहीं होती थी। इसलिए मोबाइल कॉल रिकॉर्ड भी जांच की दिशा को आगे नहीं बढ़ा रहा था।

बाद में सीसीटीवी कैमरे में पुलिस को दोनों को साथ दिखाई दिए और उसके पश्चात ही पुलिस ने पूरा ध्यान इसी दिशा में केंद्रित कर दिया था। एसपी गौरव यादव ने बताया कि कब्रिस्तान के पास पड़ा मिला था, जिसके पास एक बैग भी पाया गया था। बैग में मिले पहचान पत्र के आधार पर मृतक की शिनाख्त हुई। अब उसकी हत्या के आरोप में उसी के दोस्त को गिरफ्तार किया है।