महिला दे रही थी बच्चे को जन्म और पति कर रहा था यह काम, देखकर डॉक्टर भी हुए आश्चर्य..!

चंपावत जिला हॉस्पिटल में सोमवार को एक अजीबोगरीब मामला सामने आया। सुबह पति के साथ प्रसव कराने एक महिला पहुँची। इसके पश्चात पता चला कि गर्भावस्था को दस महीने हो गए हैं। स्थिति को गंभीर देखते हुए डॉक्टरों ने उन्हें हायर सेंटर रेफर कर दिया और यहां तक ​​कि 108 को भी बुलाया फिर भी पति प्रेग्नेंट पत्नी को हायर सेंटर नहीं ले गया। बाद में, महिला ने अस्पताल के पीछे पांच किलो के बच्चे को जन्म दिया। डॉक्टरों ने मुश्किल से बच्चे और मां को संभाला इस बीच, उसके पति की हरकतें देखकर हैरान रह गए।
गांव बुड़ाखट निवासी विश्व देवी (35) पत्नी दिनेश राम सोमवार सुबह प्रसव कराने आई थी। डॉ. वर्षा ने महिला की एलएमपी रिपोर्ट देखी, तो पता चला कि महिला को 13 अप्रैल को दस महीने बीत चुके हैं, यह महिला का छठा बच्चा है तथा अभी तक उसका प्रसव नहीं हुआ है। जिसे देखते हुए डॉक्टर ने गर्भवती महिला को सुबह 8:30 बजे पिथौरागढ़ जिला अस्पताल रेफर कर दिया।
मामले की गंभीरता को देखते हुए सीएमओ डॉ. आरपी खंडूरी ने भी 108 को फोन किया। मगर महिला का पति अपनी पत्नी के साथ अस्पताल की ओर चला गया। 11:40 बजे किसी ने डॉक्टरों को सूचित किया कि महिला ने अस्पताल के पीछे एक बच्चे को जन्म दिया है। अस्पताल में बवाल मच गया। डॉक्टर और अन्य कर्मचारी तुरंत वहां पहुंचे। उपकरणों से डिलीवरी के बाद, बच्चे की नाल काट कर लेबर रूम में ले जाया गया।
डॉक्टरों ने बताया कि इस दौरान महिला का पति पूरी घटना को मोबाइल पर रिकॉर्ड कर रहा था। प्रसव के बाद से महिला का पति हॉस्पिटल से गायब हो गया।