बंद कमरे से आती थी बच्चे के रोने की आवाज, जब युवक ने साहस करके अंदर झाँका तो..!

जब बच्चा पैदा होता है, तो सबसे पहले उसे अपनी माँ की आवश्यकता महसूस होती है, क्योंकि जन्म के बाद माँ अपने बच्चे की देखभाल करती है। यदि एक माँ अपने छोटे बच्चे को घर में छोड़ देगी तो आप सोच सकते हैं कि बच्चे के साथ क्या हो सकता है?ऐसी ही एक घटना हम आपको बताने जा रहे हैं कि एक माँ ने अपनी छोटी बच्ची को एक बंद घर में छोड़ दिया, उसके पश्चात उस लड़की के साथ क्या हुआ, आइए हम आपको उस बच्ची के बारे में बताते हैं कि वास्तव में उस बच्ची के साथ क्या हुआ था?
loading...
दरअसल, यह कहानी रूस के यारोस्लाव की है, जहाँ एक माँ ने एक साल के लिए अपने बच्चे को छोड़ दिया। मगर महिला के चले जाने के बाद, उस घर से एक आदमी गुजरा और उसने एक बच्चे के रोने की आवाज सुनी लेकिन उस आदमी ने उसे सामान्य समझकर नजरअंदाज कर दिया, मगर फिर दूसरे और तीसरे दिन उस आदमी ने कहा कि बच्चे के रोने की आवाज उसने सुनी। जब पुलिस उस घर में आई, तो पुलिस को वहां एक बच्ची मिली।
मगर उस लड़की की हालत बहुत खराब थी और पुलिस ने लड़की को अस्पताल में भर्ती कराया और बच्चे के परिवार की तलाश शुरू कर दी। जांच के बाद पता चला कि इस लड़की का नाम लिजा छाया था लेकिन उसके परिवार के बारे में कुछ भी पता नहीं चला। जिस हास्पिटल में बच्चे को लाया गया था, उसी अस्पताल में एना नाम की महिला को लाया गया था और उसने नर्सिंग होम में लिसा के बारे में बताया था। एना अपने बच्चे को अपने बेटे की तरह अपनाने के लिए ले गई और आज लिसा एक बड़ी मॉडल बन गई है और जब लिसा को अपनी असली मां के विषय में पता चला, तो वह लिसा से मिलने गई, मगर लिसा अपनी माँ का चेहरा तक देखना नहीं चाहती क्योंकि लिसा को उसकी माँ ने उस घर में अकेले मरने के लिए छोड़ दिया था।