पति को कुएं में बेहोश देखकर पत्नी भी उतरी, दोनों की गैस चढ़ने से मृत्यु..!

नजदीकी गांव बहलूरकलां में शनिवार को कुएं में उतरे दंपति की गैस चढ़ने से मृत्यु हो गई। मृतक मधु और मालती बिहार के आरनिया जिले के रहने वाले थे तथा बहलूरकलां में किसान गुरदियाल सिंह के खेत में काम करते थे और वहीं रहते थे। मधु साहनी के पिता मुक्ति साहनी ने पुलिस को बताया कि उनके बेटे ने सुबह लगभग 7 बजे मोटर चलाई तो पानी नहीं आया। इसके चलते वह कुएं में उतर गया।
loading...
बहुत देर तक जब मधु साहनी बाहर नहीं आया तो उसकी पत्नी मालती देवी कुएं के पास पहुंची। मालती ने देखा कि मधु कुएं में बेहोश पड़ा है। मालती ने कुएं में खुद उतरने की बात कही तो उन्होंने यह कहकर रोक दिया कि वह किसी को बुलाकर लाते हैं। मुक्ति के मुताबिक फोन लेने अंदर चले गए। इसी दौरान मालती भी कुएं में उतर गई। जब वह लौटे तो पाया कि मालती भी कुएं में गिरी हुई हैं।
इस दौरान लोग वहां पर पहुंच गए। लोगों ने किसी प्रकार कुएं की गैस को नष्ट किया तथा दोनों को बाहर निकाला। दोनों की मौत हो चुकी थी। पुलिस की प्राथमिक जांच में यह बात सामने आई है कि गैस चढ़ने के कारण ही दोनों की मौत हुई है। मृतकों के 2 बेटे व 2 बेटियां हैं तथा उनकी उम्र 10 वर्ष से कम है।
अकसर मीथेन गैस या कार्बन डाइऑक्साइड आदि गैसें गहरे कुओं में जमा हो जाती हैं। मीथेन गैस जहरीली मानी जाती है, जबकि कार्बन डाईऑक्साईड भी मानव के लिए सांस लेने के लिए अनुकूल नहीं होती। एेसे में जो भी इंसान कुएं में उतरता है तो इन गैसों की वजह से उसे सांस नहीं आ पाती और दम घुटने से मौत हो जाती है।