पहले हादसे में टूटा पैर और फिर हॉस्पिटल की छत का प्लास्टर गिरने से फूटा इस व्यक्ति का सिर..!

अमूमन आपने लोगों को कहते हुए सुना होगा कि जो किस्मत में होता है वही मिलता है। मगर कई लोग ऐसे भी होते हैं जिनकी किस्मत इतनी खराब होती है कि उनके साथ हर जगह बुरा ही होता रहता है। हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि गोरखपुर में एक शख्स के साथ कुछ ऐसा ही हुआ। चलिए आपको पूरा मामला बताते हैं।

क्या हुआ ऐसा
loading...
दरअसल, बीते दिनों उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में रामू यादव का पहले तो सड़क दुर्घटना में पैर टूट गया। ऐसे में उन्हें इलाज के लिए अस्पताल लाया गया। जहां पर उनके पैर में प्लास्टर चढ़ाया गया। मगर वो जिस बिस्तर पर लेटे थे उसके ऊपर छत के प्लास्टर का हिस्सा टूटकर उनके सिर पर जा गिरा, जिससे उनका सिर फूट गया। साथ ही उनके सीने पर भी चोट आई है। खबरों के मुताबिक, रामू इमरजेंसी के ऑर्थों वार्ड में भर्ती थे। जहां छत का एक हिस्सा उनके सिर पर गिर गया। आनन-फानन में वार्ड की नर्स और अन्य कर्मचारियों ने रामू को इमरजेंसी वार्ड में शिफ्ट किया। जहां पर उनका उपचार किया गया।

इसलिए बच गए थे बाकी लोग
रामू यादव की उम्र 45 वर्ष है और वो झंगहा इलाके के रहने वाले हैं। बताया जा रहा है कि जिस वक्त छत का प्लास्टर नीचे गिरा उस समय वहां और भी लोग मौजूद थे। लेकिन इस दौरान वहां से सभी लोग हट गए, जिससे रामू के अलावा किसी अन्य को चोट नहीं आई। वहीं रामू का पैर टूटने की वजह से वो वहां से नहीं हट पाए, जिससे उनके सिर में चोट लग गई। छत से गिरा प्लास्टर का टुकड़ा पहले बेड के लोहे से टकराया और फिर रामू के सिर से जा लगा।