दो मित्र एक साथ बने रेंज फॉरेस्ट अफसर, एक होगा पिता का बॉस..!

वन विभाग में बेटा पिता का बॉस बन गया है। भोरंज के जाहू गांव के अंकुश आनंद ने लोक सेवा आयोग की परीक्षा में प्रदेश भर में पहला स्थान प्राप्त किया है। अब ये रेंज फॉरेस्ट अफसर के पद पर सेवाएं देंगे। इनके पिता वन विभाग में डिप्टी रेंज अफसर हैं। इधर, हमीरपुर के ही लदेहड़ा गांव के शिवम भी इस परीक्षा में पास हुए हैं। इन्होंने प्रदेश भर में पांचवां स्थान प्राप्त किया है।

loading...
ये अंकुश आनंद के दोस्त हैं। दोनों हमीरपुर के एक निजी स्कूल में साथ पढ़े हैं और इसके पश्चात इंजीनियरिंग महाविद्यालय से दोनों ने मेकेनिकल इंजीनियरिंग ब्रांच में बीटेक की। दोनों अब वन विभाग में रेंज अफसर बन गए हैं। इस परीक्षा में अंकुश आनंद ने प्रदेश में पहला स्थान और शिवम ने पांचवां स्थान प्राप्त किया है।

रेंज फॉरेस्ट ऑफिसर के पद पर चयनित अंकुश आनंद उपमंडल भोरंज के गांव जाहू के रहने वाले हैं। अंकुश के पिता रवि चंद्र वन विभाग में डिप्टी रेंज अफसर हैं। माता सुनीता कुमारी गृहिणी हैं। शिवम रतन भी उपमंडल भोरंज के तहत आते गांव लदेहड़ा, डाकघर टिक्करी मिन्हासा के रहने वाले हैं।

शिवम की माता निर्मला रतन राजकीय बड़े माध्यमिक पाठशाला भोटा में लाइब्रेरियन हैं। पिता अश्वनी रतन व्यवसायी हैं। अंकुश बीटेक करने के पश्चात प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे थे। शिवम हिमाचल प्रदेश विवि शिमला से एमबीए कर रहे हैं।