नगर निगम अधिकारी को बैट से मारने वाले विधायक की रिहाई पर पुलिसवालों ने खाएं लड्डू..!

नगर निगम अधिकारी की बैट से पिटाई करने वाले विधायक आकाश विजयवर्गीय की रिहाई हो गई। विधायक की रिहाई की खुशी में उनके समर्थक जश्न मना रहे हैं। इस खुशी में इंदौर में विधायक समर्थकों ने लड्डू बांटे। पुलिस के अधिकारी भी जश्न की खुशी में शामिल होकर लड्डू खाए।
loading...
लड्डू खा रहे लोगों में पुलिस के अधिकारी भी दिख रहे हैं। अब तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई हैं। जिसमें कई पुलिस अधिकारी आकाश विजयवर्गीय के समर्थकों द्वारा दिए गए मिठाई खा रहे हैं। यही नहीं जेल से बाहर आते ही आकाश के समर्थकों ने बहुत खुशी मनाई। वहीं, विधायक ने कहा है कि फिर से यह नौबत नहीं आए।

फायरिंग भी की

बल्लामार विधायक को भोपाल सेशन कोर्ट से जमानत मिलते ही उनके समर्थक उन्हें नायक बनाने में लगे थे। इंदौर में बीजेपी कार्यालय के बाहर बीजेपी नेताओं ने आकाश की रिहाई की खुशी में फायरिंग की। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल है। वहीं, आकाश के जेल जाने के बाद भी उनके समर्थकों ने इंदौर शहर में आकाश विजयवर्गीय को सलाम करते हुए पोस्टर लगाए थे।

क्या था मामला

दरअसल, आकाश विजयवर्गीय ने इंदौर में जर्जर मकान को गिराने आए नगर निगम अधिकारियों के साथ मारपीट की थी। निगम अधिकारी को आकाश ने बल्ले से पिटाई की थी। इसके साथ ही उनके ऊपर लात-घूंसे भी बरसाए थे। निगम अधिकारियों के द्वारा एफआईआर के पश्चात पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। बाद में भोपाल सेशन कोर्ट से शनिवार को आकाश विजयवर्गीय को जमानत मिल गई।

मारपीट को सही ठहराते रहे आकाश

वहीं, निगम अधिकारियों के साथ मारपीट की घटना पर आकाश विजयवर्गीय को अफसोस नहीं है। वे निगम अधिकारियों की पिटाई को सही ठहरा रहे हैं। आकाश विजयवर्गीय का इसके पीछे तर्क है कि निगम के अधिकारी महिला के साथ बदसलूकी कर रहे थे। इसी कारण पिटाई की है।

बीजेपी के बड़े नेता रहे चुप

आकाश विजयवर्गीय की इस करतूत पर बीजेपी के बड़े नेता चुप रहे। कई नेताओं ने तो इसे सही भी ठहराया। मगर मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान इस पूरे मसले पर चुप्पी साधे रहे। खबर के अऩुसार बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने इस पूरे मामले पर रिपोर्ट मांगी है।