एनकाउंटर के डर से थाने पहुंचकर आरोपी कहा- साहब मुझे अरेस्ट कर लो, नहीं तो पुलिस..!

साहब, मैं गैंगस्टर में वांछित चल रहा हूं, मुझे पकड़कर जेल भेज दो, मुझे पुलिस की गोली से भय लगता है, किसी दिन पुलिस मुझे गोली न मार दे। जो पुलिस से बच रहा है, पुलिस उसके पीछे पड़ रही है और गोली मार रही है। मुझे जीवित रहना है, मैं चोरी जैसे काम से तौबा करता हूं, सारे गलत काम छोड़ दूंगा। मामला यूपी के सहारनपुर जिले का है। सोमवार को गैंगस्टर अधिनियम में निरुद्ध पांच महीने से वांछित चल रहा मंडी कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला आली निवासी अजीम अचानक थाने में पहुंच गया। जाते ही वह पुलिस अधिकारियों के सामने गिरफ्तार कर जेल भेजने के लिए गिड़गिड़ाने लगा। अजीम बोला कि मैं अब पुलिस से भाग नहीं सकता। मुझे पता है कि पुलिस मुझे एक न एक दिन तलाश कर लेगी और मैं भागा तो मुझे गोली मार देगी। साहब, मैं सभी गलत काम छोड़ दूंगा, चोरी से तौबा कर लूंगा। मुझे जेल भेज दो।
loading...
गैंगस्टर में निरुद्ध वांछित आरोपी के खुद ही थाना पहुंचने की जानकारी मिलते ही एसपी सिटी विनीत भटनागर, सीओ प्रथम रजनीश उपाध्याय कुतुबशेर थाना पहुंच गए। सूचना मिलने पर मीडियाकर्मी भी पहुंच गए और मीडिया के सामने भी अजीम ने कहा कि वह पुलिस के डर के कारण खुद ही थाना पर पहुंचा है। उसे लग रहा है कि सरकार उसे जीने नहीं देगी। एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि एनकाउंटर में पुलिस की गोली का शिकार होने के भय से अजीम ने थाना पहुंचकर गिरफ्तारी दी है। उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा। उन्होंने बताया कि आरोपी के पांच साथी पुलिस द्वारा पहले ही अरेस्ट किए जा चुके हैं। यह अकेला ही फरार चल रहा था।

चार दिन पूर्व चीका ने दी थी गिरफ्तारी
कुतुबशेर थाना में ही क्षेत्र के मोहल्ला ढोलीखाल निवासी आसिफ उर्फ चीका ने 18 जुलाई को खुद ही थाना पर पहुंचकर एनकाउंटर से बचने की बात कहते हुए गिरफ्तारी दी थी। आसिफ भी गैंगस्टर अधिनियम में वांछित चल रहा था।

गोली लगी नगर कोतवाली में, खौफ कुतुबशेर थाना क्षेत्र में
नगर कोतवाली पुलिस ने 16 जुलाई की रात को एनकाउंटर में गैंगस्टर एक्ट में निरुद्ध कुतुबशेर थाना क्षेत्र के ढोलीखाल निवासी शारिक उर्फ खच्चर को गिरफ्तार किया था। जो पुलिस की गोली लगने से जख्मी हो गया था। उसके बाद खुद ही गिरफ्तारी देने का सिलसिला चला। कुतुबशेर थाना में पहले ढोलीखाल के आसिफ उर्फ चीका ने गिरफ्तारी, उसके पश्चात अजीम ने गिरफ्तारी दे दी और पुलिस की गोली का खौफ जताया।