कब्र से जीवित निकले व्यक्ति का जानिए सच..!

बीते दिन सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी वायरल हो रही है और बताया जा रहा है कि यह वीडियो पंजाब के फतेहगढ़ साहिब इलाके के गांव भद्दलखूहा का है। इस वीडियो में दावा किया जा रहा कि भद्दलखूहा के कब्रिस्तान में सवा महिने के पश्चात एक व्यक्ति जिंदा बाहर निकल आया। सवा महीना वह कब्रिस्तान में आवाजें लगाता रहा मगर लोग डरते रहे। जब लोगों ने हिम्मत करके कब्र को खोदा तो बीच में से व्यक्ति श्वास लेता हुआ निकला।

जानें अब इस वीडियो की असल सच्चाई है क्या

loading...
इस वीडियो की जो असल सच्चाई सामने आई है वह इससे भी ज्यादा डरावनी है। दरअसल यह वीडियो पंजाब की नहीं बल्कि रूस की है। वीडियो में दिखाई दे रहा है कि व्यक्ति रूस के टुवा रीजन का एलेक्सजेंड्रा है। एलेक्सजेंड्रा को एक भालू ने बीते महीने जख्मी कर दिया था। भालू उसको खींचकर अपनी गुफा के अंदर ले गया। जख्मी होने के वजह से वह बैठने और चलने से भी गया। महीना भर वह इसी हालत में वहां पड़ा रहा।

एलेक्सजेंड्रा के अनुसार भालू ने उसको केवल इसलिए नहीं खाया क्योंकि शायद उसका पेट पहले से ही भरा हुआ था और वह उसको जख्मी करके इसलिए चला गया क्योंकि वह अपना भोजन स्टोर करना चाहता था। जख्मी हालत में वह अपना बाथरुम पीकर गुजारा करता रहा। एक दिन कुछ लोग अपने कुत्तों के साथ आए। इस दौरान वह उस व्यक्ति को देखकर घबरा गए, जबकि वह उनके और पास आया तो उन्हें वह मरा हुआ ना लगा। जिसके पश्चात वह उसको अस्पताल ले आए, जहां उसका इलाज चल रहा है।

वीडियो के कारण भद्दलखूहा के गांव वासियों में रोष


वीडियो वायरल होने के पश्चात गांव के लोग असमंजस में पड़े हुए हैं। लोगों को पंजाब ही नहीं बल्कि विदेशों से भी उनके रिश्तेदारों के फोन आ रहे हैं। इस संबंधी गांव भद्दलखूहा के मुस्लिम भाईचारे ने इस वीडियो का खंडन तक कर दिया है। गांव के ही अकबर खान ने कहा कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही वीडियो का भद्दलखूहा के कब्रिस्तान की नहीं है। इसलिए उन्होंने इस वीडियो को आगे और वायरल ना करने की अपील की। उन्होंने प्रशासन को अपील की कि ऐसे शरारती व्यक्तियों पर बनती कार्रवाई की जाए। इस मौके पर अकबर खान, बलकार खान, सदीक मोहम्मद, राजिंदर सिंह राजी, धरमिंदर सिंह और काला खां के अलावा गांव वासी उपस्थित थे।