विदेशी लड़की को हुआ भारतीय लड़के से प्यार, अब शादी कर गांव में जी रही है ऐसा जीवन..!

हमारे भारत में भले ही लाख बुराई हो मगर यहां आने वाला कोई भी यहां का होकर रह जाता है। इसके लिए इंसान को प्यार होना जरूरी होता है जैसे किसी जगह से मोहब्बत या फिर किसी इंसान से इश्क होना और इसी बात को साबित करती हैं फ्रांस की रहने वाली मारी, जो सात वर्ष पहले यहां घूमने आई थीं और फिर उन्हें प्यार हुआ और शादी करके यहीं पर बस गईं। उन्होंने फ्रांस के पेरिस शहर में जन्म लिया, अपना बचपन वहीं गुजारा मगर जब बात शादी की आई तो उन्हें देसी छोरा भा गया और उसी के साथ शादी कर ली अब वो एक भारतीय महिला की तरह जीवन व्यतीत कर रही हैं। विदेशी लड़की को हुआ इंडियन लड़के से प्यार, उनकी तस्वीरें देखकर आपको बिल्कुल नहीं लगेगा कि कोई विदेशी लड़की ऐसा कर सकती है।

विदेशी लड़की को हुआ इंडियन लड़के से प्यार

loading...
33 साल की मारी भारत में मांडू घूमने आई थीं और यहां के ऐतिहासिक किले और उसकी खूबसूरत वादियों को समझाने वाले गाइड के साथ दिल लगा लिया। इस विदेशी महिला ने टूरिस्ट गाइड धीरज के साथ विवाह कर ली अब मांडू में अपना जीवन गुजार रही हैं। मारी के पिता डॉक्टर और मां टीचर हैं। मारी खुद एक टीचर हैं और आज वो टूटी-फूटी हिंदी भी बोल लेती हैं। उनका पहनावा साड़ी और सलवार सूट ही है और इसे पहनकर वो गर्व महसूस करती हैं। आज भी वो पेरिस के कुछ बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाती हैं और साथ में नोट्स भी बनाकर भेजती हैं। उनके दो बच्चे हैं जिन्हें वो फ्रेंच और हिंदी दोनों भाषाएं सिखा रही हैं। इन सब में सबसे बड़ी बात ये है कि मारी मांडू में अपना घर स्वयं बना रही हैं और इसके लिए मिस्त्रि के साथ काम भी करती हैं।

मारी के दो बच्चे एक काशी जो 5 साल का है और दूसरा नील जो अभी 3 साल का ही है। इनमें एक का जन्म दिल्ली तो दूसरे का जन्म कोच्चि में हुआ। मारी पूरे घर का काम खुद ही करती हैं और उऩका कहना है कि वो अपने बच्चों को अभी स्कूल नहीं भेजेंगी। 10 सालों तक खुद ही उन्हें पढ़ाएंगी और फिर बेसिक सारी चीजें उऩ्हें सिखाने के बाद ही स्कूल भेजेंगी।

ज्यादातर पहनती हैं साडी़ और सूट

मारी पूरी तरह से देसी रंग में ढल गई हैं और अब ज्यादातर वो सलवार सूट या साड़ी ही पहनती हैं। कोई त्योहार या पूजा के दौरान उन्हें साड़ी पहनना ही बहुत अच्छा लगता है। मारी ने बताया कि भारतीय ट्रेंड के हिसाब से साड़ी को पहनकर उन्हें अंदर से बहुत अच्छा लगता है और उनके बच्चे भी बाकी बच्चों के साथ पारंपरिक खेल खेलते हैं। वो अपने पति और बच्चों के खाने का खास ख्याल रखती हैं जिससे उनकी सेहत बनी रहे, जिसके लिए वो सादा खाना, अंकुरित अनाज और बिना तेल-घी का खाना बनाती हैं। मारी या उनके बच्चों को स्वास्थ्य संबंधी कोई समस्या होती है तो वो सीधे अपने पिता से संपर्क करती हैं जो कि फ्रांस में रहते हैं।