पिता को फोन कर रोते-रोते बस इतना कह पाई शादीशुदा बेटी और फिर इस संसार से हो गई विदा...!

रात लगभग सवा 8 बजे बेटी का फोन आया। वह बहुत रोई। रोते-रोते उसने बताया कि दहेज के लिए मारपीट होती है। उन्हें 2 लाख रुपए नकद और मोटरसाइकिल चाहिए। यह कहना है राजस्थान के पाली शहर के सूरजपोल इलाके में मंगलवार सुबह ससुराल में फंदे से लटकी मिली 22 वर्षीय प्रियंका के परिजनों का।​ प्रियंका के पिता व अन्य परिजनों ने इल्जाम लगाया कि ससुराल पक्ष के लोगों ने दहेज के लिए उसकी हत्या कर घटना को आत्महत्या का रूप शव फांसी के फंदे पर लटका दिया।
loading...
जोधपुर के भदवासिया इलाके में रविदास नगर निवासी गौतमचंद रेगर ने अपनी बड़ी बेटी प्रियंका की शादी 24 नवंबर 16 को पाली में सूरजपोल के रेगर मोहल्ला निवासी प्रकाश नवल पुत्र चिमनलाल के साथ की थी। गौतमचंद का आरोप है कि सोमवार रात सवा आठ बजे उसके पास बेटी का फोन आया तो उसने दहेज में दो लाख रुपए नकद तथा मोटरसाइकिल की मांग पूरी नहीं करने पर पति व ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा हत्या कर दिए जाने की आशंका जताई थी। इसके पश्चात उसका मोबाइल बन्द हो गया था और मंगलवार सुबह उसकी मौत की सूचना मिल गई।
मंगलवार सुबह घटना की सूचना पाकर एसडीएम रोहिताश्वसिंह ताेमर व कोतवाली थाना प्रभारी गंगाराम खावा मौके पर पहुंचे और जोधपुर से मृतका के पिता व पीहर पक्ष को बुलाकर शव उतार मोर्चरी में रखवाया। मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम के पश्चात शव लेकर पीहर पक्ष के लोग जोधपुर चले गए, जहां दोपहर बाद प्रियंका का अंतिम संस्कार कर दिया गया।