जानिए महेंद्र सिंह धोनी के जीवन के वो सच जो उनकी फिल्म में भी नहींं दिखाए गए..!

क्रिकेट जगत के जाने-माने क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी इन दिनों बहुत चर्चा में बने हुए हैं। बता दें कि 3 साल पहले महेंद्र सिंह धोनी की बॉयोपिक रिलीज हुई थी। इस फिल्म में महेंद्र सिंह धोनी का किरदार सुशांत सिंह राजपूत ने निभाया था। ये फिल्म दर्शकों को बहुत पसंद आई थी। फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर जबरदस्त कलेक्शन किया। फिल्म में महेंद्र सिंह धोनी की लव स्टोरी और उनकी पर्सनल लाइफ को दिखाया गया था। मगर इसके बावजूद भी फिल्म में महेंद्र सिंह धोनी की लाइफ के कुछ किस्से ऐसे थे जो अनसुलझे रह गए। अपने इस लेख में हम आपको धोनी की जिंदगी के 5 बड़े सच बताएंगे जो फिल्म से गायब थे।

loading...
फिल्म में धोनी के क्रिकेट करियर को तो दिखाया गया, मगर ये नहीं बताया गया कि वो भारतीय टीम के कप्तान कैसे बने। फिल्म में काफी जगह चयन प्रक्रिया दिखाई गई लेकिन धोनी का टीम इंडिया के कप्तान के लिए कैसे चयन हुआ। यह कहीं भी नहीं दिखाया गया। जिसको लेकर के दर्शकों के मन में कई प्रकार के सवाल उठे। इसके अतिरिक्त जब फिल्म में धोनी के गेम को दिखाया गया तो उनको कई जगह पर साइड में स्ट्रोक जड़ते हुए देखे गए हैं। उनके ज्यादातर शॉट आड़े शॉट थे और उन्हें सलाह दी गई थी कि वह ऑफ साइड में भी स्ट्रोक खेलें। फिल्म में इस बारे में बिल्कुल भी नहीं बताया गया कि उन्होंने वह स्ट्रोक कैसे सीखे।

वहीं फिल्म में उन तीन क्रिकेटरों के नामों को उजागर नहीं किया गया, जिन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गई सीबी सीरीज से निकाल दिया गया था। जब फिल्म में वो सीन आया तब धोनी ने उन तीनों के नाम बताए तो आवाज बंद कर दी गई। जब लिप- सिंक को नजदीक से देखा गया तो पता चला कि उन्होंने दो खिलाड़ियों के नाम ही बताए हैं जिन्हें म्यूट कर दिया गया। बाद में तीसरे खिलाड़ी का नाम बताया जाता है जब धोनी न्यूज चैनल देखते हैं और मीडिया उनके तीसरे खिलाड़ी से मनमुटाव की बात करती है।

बता दें कि धोनी को बचपन से ही मिलिट्री प्रेम था, मगर फिल्म में उनके मिलिट्री के लिए इस प्यार को कही भी नहीं दिखाया गया। बता दें कि धोनी अक्सर मीडिया से बातचीत के दौरान आर्मी के लिए अपने प्यार को जाहिर करते हैंं। गौर करने वाली बात है कि धोनी को भारतीय आर्मी में लेफ्टिनेंट कर्नल की पोजीशन दी गई है। धोनी अक्सर आर्मी स्टाइल के बैग का उपयोग करते नजर आते हैं।

उन्होंने यह बात कई बार कही है कि अगर वह क्रिकेटर नहीं होते तो वे आर्मी में होते। वहीं फिल्म में धोनी के परिवार को भी नहीं दिखाया गया। फिल्म में धोनी की केवल एक बहन का जिक्र हुआ है बल्कि असल में उनका एक भाई भी है जिसका नाम नरेंद्र सिंह धोनी है।