क्या कांस्टेबल स्नेहा की सुंदरता बना उनकी मौत का कारण...!

बिहार पुलिस में तैनात स्नेहा की मौत हो जाती है और उनके विभाग को दो दिन तक पता नहीं चलता है। उनके पिता का कहना है, कि उनकी लड़की की मौत उसकी सुंदरता की वजह से हुई है और यह बयान निश्चित रूप से पुलिस की भूमिका पर शक पैदा करता है, मगर अभी तक इस नेहा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने नहीं आई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही इस मामले से जुड़े खुलासे हो सकते हैं।
loading...
इस पूरे मामले में पुलिस की भूमिका संदिग्ध है। स्नेहा उसी बिहार पुलिस का हिस्सा है, जो पुलिस इस मामले को सुलझाने के बजाय संदिग्ध बनाने में लगी है। प्रश्न यह है आखिर पुलिस किस को बचाना चाहती है। स्नेहा कुमारी सिवान जिले में तैनात थी, लेकिन एक जून को स्नेहा अपने सरकारी घर में मरी हुई पाई जाती है, मगर उनके शव को देखकर लगता है कि उनकी मौत 48 घंटे पहले ही हो चुकी थी इस हिसाब से उनकी हत्या 30 मई को हुई थी।
मगर दो दिन तक स्नेहा की तलाश क्यों नहीं की गई क्यों उनकी मौत की खबर किसी को नहीं लगी। पुलिस ने उनकी मौत को आत्महत्या करार कर इस मामले को और उलझा दिया है। संदिग्ध तरीके से पुलिस इस मामले को दबाने की कोशिश कर रही है। उससे शक लगातार बढ़ता जा रहा है, आखिर पुलिस किस को बचाने में लगी है। स्नेहा की मौत के पश्चात पुलिस ने उनके पिता को खबर दी कि उनकी बेटी की तबीयत बहुत खराब है, और वे उन्हें दो सिपाही के साथ पटना भेज रहे हैं। लेकिन जब पटना अस्पताल में स्नेहा का पोस्टमार्टम कराया तो डॉक्टरों ने यह कहकर मना कर दिया कि ये बॉडी कॉफी बेकार हो चुकी है, मगर जब पुलिस ने डॉक्टर के साथ जबरदस्ती की तो डॉक्टर हड़ताल पर बैठ गए ।
घटना में मोड़ तब आया जब पुलिस शव को लेकर उनके गांव गई, तो उनके पिता और उनके परिजनों ने शव को पहचानने से इनकार कर दिया। जिसके बाद वहां पर हड़ताल हुई और पुलिस ने दस लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने जबरदस्ती स्नेहा का दाह संस्कार कराया और यहां तक कि पुलिस लाश को श्मशान घाट खुद लेकर पहुंची। परिजनों ने स्नेहा के साथ दुष्कर्म का आरोप भी लगाया है। स्नेहा के पिता विवेकानंद मंडल का कहना है कि उनकी बेटी की जान उसकी सुंदरता ने ले ली। बिहार पुलिस में महिलाओं को आरक्षण मिला है। इसलिए महिलाओं को बिहार पुलिस में नौकरी का अच्छा मौका मिलता है लेकिन इसके विपरीत इसमें कुछ शोषण की खबरें भी आती रहती हैं। मगर स्नेहा के साथ क्या हुआ उसका पता पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही चल पाएगा।