बुजुर्ग व्यक्ति से पैसा लेते टीटीई का वीडियो वायरल हुआ, रेलवे ने निलंबित कर दिया..!

ट्विटर पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें दिख रहा है कि एक टीटीई बुजुर्ग से पैसे ले रहा है। वीडियो में वह बुजुर्ग के हाथ से पैसा छीनते हुए दिखाई दे रहा है। बुजुर्ग हाथ जोड़कर पैसे वापस मांग रहा है। टीटीई कुछ पैसे रख लेता है और बाकी पैसे लौटा देता है। इस वीडियो के बारे में कई प्रकार के दावे किए जा रहे हैं। कुछ लोगों का कहना है कि बुजुर्ग जल्दबाजी में स्लिपर क्लास में चढ़ गए थे। जबकि उनके पास जनरल का टिकट था। इसलिए टीटीई ने उनसे पैसे लिए।

बृजेश मिश्रा नाम के ट्विटर यूजर ने ट्वीट किया,
loading...
आदरणीय केंद्रीय रेलमंत्री @PiyushGoyal जी, आपके रेलवे डिपार्टमेंट में जमकर भ्रस्टाचारियो का बोलबाला है, ऐसा ही एक वीडियो मैं भी इलाहबाद स्टेशन से जिगना स्टेशन के मध्य बना रहा था तो मेरी मोबाइल छीन ली गई थी, कृपया इन भ्रस्ट कर्मचारियों पर करवाई करें इस ट्वीट में पीएमओ इंडिया और नरेंद्र मोदी को भी टैग किया गया है। इंडियन रेलवे सेवा ने ट्वीट किया, कृपया अपने यात्रा विवरण को बताएं कि आपके साथ यह घटना कब हुई थी ताकि हम जाँच कर सकें। इस वीडियो के संबंध में भी जांच की जा रही है।

इसके जवाब में बृजेश मिश्रा ने ट्वीट किया,
ये घटना मेरे साथ करीब एक साल पहले हुई थी, 3 टीटी नैनी स्टेशन से चढ़ते है और मेरे बगल वाले यात्री से पैसा लेके उसका टिकट नही बनाते हैं और जब मैं वीडियो बना रहा था तो एक ने मेरा मोबाइल छीन लिया, उसमें से एक मुख्य यादव जी थे, जो मिर्ज़ापुर के थे और मैंने उस वक्त भी ट्वीट किया था।

इसके बाद डीआरएम मुगलसराय ने ट्वीट किया, 
सम्बंधित कर्मचारी से विडियो क्लिप के सम्बन्ध में स्पष्टीकरण लिया गया। घटना 3,4 महीने पहले का है। कर्मचारी ने बताया टिकट बनाने हेतु यात्री से पैसा ले रहे थे और टिकट बनाया था। सम्बंधित कर्मचारी को विस्तृत जाँच हेतु निलंबित कर दिया गया है। मुगलसराय यानी दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन के डीआरएम के मुताबिक, टीटीई ने घूस नहीं ली बल्कि टिकट बनाने के लिए पैसा लिया तथा टिकट बनाया। उनका ये भी कहना है कि विस्तार पूर्वक इस घटना की जांच के लिए टीटीई को सस्पेंड कर दिया गया है। ये अच्छी बात है कि वीडियो वायरल होने के पश्चात संबंधित टीटीई के खिलाफ कार्रवाई की गई।