स्कूल में दहशत के बाद भागे बच्चे, और फिर घर वालों ने उनको गोबर से नहलाया, जानें पूरा मामला

खोलहाल के दीपिका स्कूल के एक शिक्षक की लापरवाही से चार बच्चों की जान पर बन आई। समय रहते ही बच्चों के परिजनों ने उन्हें 108 एम्बुलेंस से जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनका इलाज जारी है। दरअसल, स्कूल में बच्चें पढऩे गए थे। 
loading...
इस दौरान स्कूल का लंच हुआ तो कक्षा छठवीं और नौंवी के बच्चे मैदान में चले गए और पेड़ के नीचे बैठ गए। इसी दौरान उनको कैमाच लग गया। इससे उनके शरीर में जबरदस्त खुजली होने लगी। इस पर चारों बच्चों ने यह बात स्कूल के शिक्षक को बताई। इस पर शिक्षक ने उन्हें घर जाकर सरसों का तेल लगाकर सो जाने की बात कही।

एक किमी पैदल चलकर अपने घर पहुंचे बच्चे

इस दौरान बच्चे एक किमी पैदल चलकर घर पहुंचे तब तक खुजली से उनका पूरा शरीर लाल हो चुका था। जबरदस्त खुजली के चलते चारों की हालत खराब होने लगी थी। यह देखकर परिजनों ने उन्हें गोबर से नहलाया लेकिन उनको कोई आराम नहीं मिला बच्चों की तबीयत खराब होते देखकर परिजनों ने 108 एम्बुलेंस को सूचना दी। इसके बाद 108 एम्बुलेंस के द्वारा उन्हें जिला अस्पताल लाया गया, जहां उनका उपचार किया जा रहा है।