दुकान में घुस गए थे तीन लोगों को रस्सी से बांध दिया और फिर लोगों ने किया ये काम

ऊंझा के विसनगर रोड पर स्थित माणेकवाडी के सामने दुकानों में चोरी के इरादे से घुसे तीन लोगों को नागरिकों ने पकड़ा, फिर रस्सी से बांधा, उसके बाद खूब पीटा। इन चोरों को पुलिस के हवाले नहीं किया गया, इसकी पूरे शहर में चर्चा है।

एक का दरवाजा तोड़ दिया, दूसरी का कुंदा भी तोड़ा
loading...
बुधवार की रात दस से 11 बजे के बीच विसनगर रोड पर माणेकवाडी के सामने दो दुकानों में 3 शख्स चोरी के इरादे से घुसे। पहले एक दुकान का दरवाजा तोड़ा, फिर दूसरी दुकान का कुंदा। यहां तीनों ने जीरे की चोरी की कोशिश की। इस दौरान हुई खटपट की आवाज से ऊपर सोए मजदूरों की नींद खुल गई। उन्होंने हंगामा मचा दिया। सभी मजदूरों ने तीन लोगों को पकड़ा, उन्हें रस्सी से बांधकर खूब पीटा। इसके बाद किसी को भी पुलिस के हवाले नहीं किया। इस पर लोगों को आश्चर्य है।

थाने में कोई सूचना ही नहीं दिया
चोरों को रात भर बांधकर रखा गया। गुरुवार को उन्हें छोड़ दिया गया। इस संबंध में पीआई खराडे ने कहा कि इस आशय की कोई फरियाद पुलिस थाने में नहीं की गई है। स्थानीय नागरिकों का कहना है कि इसी जगह पर पिछले साल भी चोरी हुई थी। दरवाजे तोड़े गए थे। बहरहाल जो चोर पकड़े गए थे, वे मलाई तालाब पांजरापोल के सामने के इलाके के रहने वाले थे।