घर से बच्चों के कराहने की आ रही थी आवाज, जब लोगों ने खिड़की से अंदर देखा तो उड़ गए उनके होश

देहरादून में बेरोजगारी और आर्थिक तंगी से जूझ रहे एक पिता ने बीते मंगलवार को सुबह एक मासूम बेटे और बेटी की पीट-पीटकर हत्या कर दिया, जबकि अपनी पत्नी और तीसरी बेटी को लहूलुहान भी कर दिया। कमरे का माहौल देखकर बस्ती के लोग सहम गए। दिन भर बस्ती में मातम छाया रहा। किसी ने नहीं सोचा था कि मंगलवार की सुबह, राम सिंह के परिवार इस तरह कहर बनकर टूटेगी।
loading...
मंगलवार की सुबह ही रामसिंह उर्फ ​​मान सिंह के घर से बच्चों की कराहने की आवाज सुनकर पड़ोसी दौड़े थे। लेकिन घर बंद होने के कारण ही पड़ोसी खिड़की की जाली काटकर अंदर घुसे। वहां उन्होंने देखा कि राम सिंह खुद को फांसी पर लटकाने की कोशिश कर रहा है। इस पर, लोगों ने रस्सी को काट दिया और कुछ लोगों ने उसको अस्पताल ले जाने के लिए भी कहा।
इसके बाद जैसे ही लोग कमरे में दाखिल हुए, उनके होश उड़ गए। बच्चे लहूलुहान हालत में बिस्तर पर पड़े हुए थे। कमरे में चारों ओर खून ही खून बिखरा हुआ था। कमरे के एक कोने में राम सिंह की पत्नी घायल अवस्था में बेहोश पड़ी थी। 
उसको देखकर ऐसा लग रहा था कि उसने क्रूर पति से बचने की बहुत कोशिश की होगी। इस छटपटाहट में वह इतनी दूर आ गिरी और बेहोश हो गई। एसपी देहात परमेंद्र डोभाल ने बताया कि सिर पर चोट लगने से बच्चों की जान गई है।
ग्राम प्रधान वीरेंद्र थापा ने बताया कि विनय और मुस्कान के शव को पोस्टमार्टम के बाद घर लाया गया। इसके बाद उन्हें रिश्तेदारों की मौजूदगी में दफनाया गया। मासूम बच्चों की मौत से पूरा गांव स्तब्ध है। 
पुलिस ने ​​राम सिंह के खिलाफ डोईवाला कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया है। कोतवाल राकेश गुंसाई ने बताया कि आरोपी की पत्नी रीना देवी के भाई रजनीश कुमार की तहरीर पर उसके खिलाफ धारा 302 और 307 (हत्या का प्रयास) के तहत मामला दर्ज किया गया है।