पति करता था ये मांग लेकिन शांत स्वभाव की पत्नी नहीं कर पाई पूरा और फिर पति ने पत्नी के साथ किया ये काम

गोरेयाकोठी थाना के लद्धी गांव में रविवार को एक विवाहिता की गला दबाकर कर हत्या कर दी गई तथा परिजनों द्वारा आनन-फानन में साक्ष्य छुपाने के लिए शव को जला दिया गया। मृतका की पहचान गोपालगंज जिले के मांझा थाना क्षेत्र के धर्मपरसा निवासी उमाशंकर यादव की पुत्री रविता कुमारी बताई जाती है। इस मामले में मृतका की मां भागवती देवी ने गोरेयाकोठी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराते हुए मृतका के पति संदीप कुमार यादव, श्वसुर लालकिशुन यादव, सास रमावती देवी, भैसुर जगदीश यादव, देवर प्रदीप यादव, लालबहादुर यादव, भोज यादव समेत आठ लोगों को आरोपित किया है। 
loading...
घटना के संबंध में बताया जाता है कि रविता कुमारी की शादी गोरेयाकोठी थाना क्षेत्र के लधी निवासी लालकिशुन यादव के पुत्र संदीप कुमार यादव के साथ इसी वर्ष 7 मार्च को हुई थी। शादी के बाद से ही दहेज में बाइक के लिए उसे प्रताड़ित किया जाता था। मांग पूरी होने पर उसे जान से हाथ धोने की धमकी दी जाती है। इसकी सूचना रविता अपनी मां को मोबाइल से फोन कर देती थी। अंतत: मांग पूरी नहीं होने पर ससुराल वालों ने रविवार को रविता कुमारी का हाथ-पैर बांधकर तथा गला दबाकर हत्या कर दी तथा शव का दाह संस्कार कर दिया। 
घटना की सूचना किसी ने मृतका के मायके वाले को दी। सूचना मिलते ही मायके वालों में कोहराम मच गया। मृतका की मां भागवती देवी अन्य परिजनों के साथ गोरेयाकोठी थाना पहुंच रविता के पति समेत आठ लोगों पर पुत्री की दहेज के लिए पुत्री की गला दबाकर हत्या करने का आरोप लगाते हुए न्याय की गुहार लगाया है। गोरेयाकोठी थानाध्यक्ष रविकांत कुमार दुबे ने बताया कि मामले की छानबीन कर रही है। वहीं थाना परिसर में परिजनों के रोने से वहां का माहौल गमगीन हो गया था। मृतका की मां समेत भाई धनंजय यादव, रामबाबू यादव समेत अन्य का रो-रोकर बुरा हाल था।