युवक सड़क पर हाथ जोड़कर जिंदगी की भीख मांगता रहा, लोग बनाते रहे वीडियो

मेरठ में एक बार फिर लोगों का अमानवीय चेहरा सामने आया, जब पेट मे गोली लगा युवक सड़क पर हाथ जोड़कर लोगों से अपनी ज़िंदगी बचाने की गुहार लगाता रहा, लेकिन लोगों की जैसे आत्मा मर गई हो. भीड़ तमाशाबीन बनकर उसे देखती रही और वीडियो बनाती रही. किसी ने उसे अस्पताल ले जाने की कोशिश तक नहीं की और कुछ देर बाद युवक की मौत हो गई. 

उसके पेट में लगी थी गोली
loading...
दरअसल मामला मेरठ के खरखौदा थाना इलाके के बिजौली गांव का है. यहां एनएच 235 पर गांव के ही रहने वाले रितेश का उसी के गांव के युवकों से एक दिन पूर्व झगड़ा हो गया था. जिसके बाद उक्त लोगों ने उसे जान से मारने की धमकी दी और कल उसे पेट से सटा कर गोली मार दी और फरार हो गए. गोली लगने से रितेश बुरी तरह घायल हो गया और दर्द से तड़पने लगा. एनएच 235 के किनारे घायल हाथ जोड़कर भीड़ से अस्पताल ले जाने की गुहार लगाता रहा, लेकिन सब तमाशबीन बनकर देखते रहे और वीडियो बनाते रहे. हद तो तब हो गई जब वहां से गुजर रहे एक कार सवार को लोगों ने मदद के लिए रोका, लेकिन कार चालक ने साफतौर पर मना कर दिया और वहां से चलता बना. इसके कुछ देर बाद ही रितेश ने दम तोड़ दिया. 

सभी आरोपी वहां से गो गए थे फरार
सवाल ये है कि हम किस समाज मे जी रहे हैं. एक शख्स मौत के मुहाने पर खड़ा होकर मदद की गुहार लगता है और लोग मनोरंजन के लिए उसके मरते हुए की वीडियो बनाते रहे हैं. अगर उसे तत्काल अस्पताल ले जाया गया होता तो उसकी जान बच सकती थी. वहीं मृतक के परिजनों ने गांव के ही दो युवकों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है, पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी है. आरोपी अभी फरार हैं.