न्यूजीलैंड की ये लड़की एक पंजाबी लड़के से शादी करने के लिए पंजाब आ गई, जानें पूरा मामला

Facebook पर न्यूज़ीलैंड की युवती के साथ हुई दोस्ती ने कब मोहब्बत का रूप ले लिया पता ही नहीं चला और लड़की भी सिमरनजीत सिंह से सिख रीति रिवाजों से शादी रचाने के लिए भारत पहुंच गई। 24 वर्षीय सिमरनजीत सिंह पुत्र रंजीत सिंह ने बताया कि 2018 में Facebook के सेल परचेज ग्रुप इंडियंस इन न्यूज़ीलैंड में उसकी जान पहचान 40 वर्षीय लोलिनी टोंगी से हुई। यह जान पहचान कब मोहब्बत में बदल गई पता ही नहीं चला। सिमरनजीत ने बताया कि सबसे पहले उसने लोलिनी के साथ ने 24 मई 2018 को चैटिंग की शुरुआत की।

10 सितंबर 2018 को गिफ्ट लेकर लाेलिनी पहुंची भारत
loading...
तीन-चार दिन चैटिंग करने के बाद लोलिनी टोंगी ने कॉल करके सिमरनजीत सिंह बातचीत की और सिख कल्चर की जानकारी ली। कुछ दिनाें बाद लोलिनी ने भारत आकर सिमरनजीत से सिख रीति-रिवाज से शादी का प्रस्ताव रखा जिसे सिमरनजीत के परिजनों ने स्वीकार कर लिया। 10 सितंबर 2018 को ढेर सारे गिफ्ट लेकर भारत पहुंची लोलिनी ने 16 सितंबर 2018 को गुरुद्वारा श्री सुखमनी साहिब सेवा सोसायटी में सिमरनजीत के साथ रिंग सेरेमनी कर ली।
करीब एक महीना यहां रहने और सिख धर्म को अच्छी तरह से समझने के बाद 5 अक्टूबर 2018 को वो वापस न्यूज़ीलैंड चली गई। चूंकि लोलिनी के परिजन उसकी शादी न्यूज़ीलैंड में ही करना चाहते थे तो उसने वहीं पर सिमरनजीत की फ़ाइल वीज़ा के लिए लगा दी, जिसको न्यूज़ीलैंड सरकार की तरफ से अप्रैल 2019 में रिजेक्ट कर दिया गया।

पंजाबी खाने की है शाैकीन
16 मई 2019 को लोलिनी टोंगी भारत पहुंची और उसने 26 मई 2019 को सिमरनजीत सिंह के साथ गुरुद्वारा श्री सुखमनी साहिब सेवा सोसायटी में सिख रीति रिवाज से श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी का आशीर्वाद लेते हुए शादी कर ली। शादी के बाद करीब डेढ़ महीने बाद लोलिनी न्यूज़ीलैंड लौट गई और जाते ही सिमरनजीत के वीज़ा की फ़ाइल दोबारा से लगा दी।
लाेलिनी रोजाना वाहेगुरु से अरदास करती है कि वह और सिमरनजीत जल्द ही इकट्ठे हो जाएं। सिमरनजीत सिंह के पिता रंजीत सिंह और माता गुरजीत कौर इस बात से खुश हैं कि सात समंदर पार करते हुए लोलिनी ने सिख मर्यादा के अनुसार उनकी बहू बनना स्वीकार किया। लोलिनी अच्छे स्वभाव की मालकिन है और वह सारे परिवार में ऐसे घुलमिल गई थी कि पता ही नहीं चलता था कि वह इतनी दूर से आई हाे।
लाेलिनी ने सिख मर्यादाओं को बहुत जल्द ग्रहण कर लिया और वो पंजाबी खाना बहुत ही शौक से खाती है। उनकी वाहेगुरु से अरदास है कि जल्द से जल्द उनका पुत्र और बहू आपस मे इकट्ठे हो जाएं। दोनों की शादी से सिमरनजीत सिंह की बहनें किरणप्रीत कौर और मनप्रीत कौर भी बहुत खुश हैं। उधर, सिमरनजीत सिंह ने विदेश मंत्री एस जयशंकर से गुहार लगाई है कि वह पति-पत्नी को आपस मे मिलवाने के लिए उनकी मदद करें।