12 लाख था उसके जिंदगी का दाम, इसलिए वो चली गई, जानें पूरा मामला

loading...
कानपुर में दहेज की खातिर लोभियों ने नवविवाहिता को पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया। मृतका के परिजनों का आरोप है कि ससुराल वाले लगातार दहेज की मांग कर युवती को प्रताड़ित कर रहे थे। जिसके चलते काफी दिनों से युवती मायके में रह रही थी। पुलिस ने परिजनों की तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर लिया है। जानकारी के मुताबिक फजलगंज के गड़रिया मोहाल में रहने वाली वैशाली गुप्ता की शादी इसी साल फरवरी में चकेरी के श्याम नगर में रहने वाले प्रशान्त के साथ हुई थी। 
परिजनों का आरोप है कि उन्होंने 10 लाख रुपए खर्च कर शादी की थी, लेकिन शादी के बाद से ही वैशाली के ससुराल वाले उसे कम दहेज लाने का ताना देने के साथ 12 लाख रुपए दहेज लाने की मांग करने लगे। जिसके चलते उन्होंने वैशाली को प्रताड़ित करने शुरू कर दिया। परेशान हो कर वैशाली की मां ने अपने खाते से डेढ़ लाख रुपए 2 जुलाई को प्रशान्त के एकाउन्ट में ट्रान्सफर किए। जिसके बाद भी वैशाली को प्रताड़ित करने का सिलसिला नहीं थमा। वैशाली के परिजन उसे लेकर मायके आ गए। गुरुवार शाम वैशाली का पति प्रशान्त उसे लेकर वापस आया था। 
जिसके थोड़ी देर बाद ही वैशाली के ससुरालीजनों ने उसकी तबीयत खराब होने की सूचना उसके मायके वालों को दी। परिजन हैलट अस्पताल पहुंचे तब तक वैशाली की मौत हो चुकी थी। जिस पर दोनों पक्ष में मारपीट हो गई और ससुराल वाले फरार हो गए। मृतका के परिजनों का कहना है कि उसके ससुराल के लोगों ने पीट-पीट कर उसे मौत के घाट उतार दिया। चकेरी पुलिस ने मृतक के परिजनों की तहरीर के आधार पर पति और सास ससुर सहिता कई लोगों पर दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है । पुलिस ने प्रशान्त के पिता और चाचा को गिरफ्तार कर लिया है।