ले‍डी कांस्टेबल ने अपने रूम में कर दिया कुछ ऐसा काम, 3 महीने पहले ही आई थी उस रूम में

एक महिला कांस्टेबल ने बुधवार की देर शाम सदर कोतवाली परिसर स्थित सरकारी आवास में फांसी लगा कर जान दे दी। इसकी खबर मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंचे एसपी डा श्रीपति मिश्र ने कहा कि मामले की छानबीन की जा रही है।
loading...
गाजीपुर जिले के कासिमाबाद थाना क्षेत्र के सोनबरसा गांव की रहने वाली जुलेखा खातून पुत्री मुमताज जिले के बनकटा थाने में आरक्षी के पद पर तैनात थी। करीब तीन माह पूर्व ही उसकी सदर कोतवाली से यहां तैनाती हुई थी। उसने सदर कोतवाली परिसर में स्थित अपने सरकारी आवास को अभी नहीं छोड़ा था। 

अक्सर वह छुट्टी मिलने पर यहीं आकर रहती थी। बुधवार की देर शाम उसके कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था।  इसी बीच किसी ने जंगले से उसे पंखे में दुपट्टे के सहारे लटकता देखा। इसकी खबर मिलते ही पुलिसकर्मियों ने आनन-फानन में कमरे का दरवाजा तोड़ उसे जिला अस्पताल पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 
इसकी जानकारी मिलते ही एसपी डा श्रीपति मिश्र, एएसपी शिष्यपाल, सीओ निष्ठा उपाध्याय व एसडीएम सदर दिनेश कुमार मिश्र मौके पर पहुंच गए। अधिकारियों ने कमरे का जायजा लेने के साथ ही अगल-बगल रहने वालों से पुलिसकर्मियों से पूछताछ की। समाचार लिखे जाने तक पुलिस अधिकारी कोतवाली में जमे हुए थे।