इस रिक्शे वाले ने बचाई थी इस लड़की की जान, 8 साल बाद लड़की ने कुछ इस तरह चुकाया एहसान

वह कहतें हैं नेक काम करने वालों का साथ ऊपर वाला हमेशा देता हैं। कुछ ऐसा ही राजस्थान की रहने वाली रोहिणी के साथ हुआ। दरअसल, रोहिणी सरास्वत एक दिन रात के अंधेरे में अपनी स्कूटी से घर जा रही थी की अचानक उसका बैलेंस बिगड़ गया जिसके वजह से वह नीचे गिर गयी और बेहोश हो गई।
loading...
वहीं रात के अंधेरे में रिक्शावाला रमेश अहिर जा रहा था की तभी उसे दर्द से तड़प रही किसी की आवाज सुनाई दी। जब रमेश ने जाकर देखा तो रोहिणी बेहोशी की हालात में थी जिसके बाद रमेश ने बिना सोचे-समझे रोहिणी को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया। डॉक्टर ने बताया की रोहिणी का एक पैर टूट चुका हैं जिसके बाद परिवार वालों को ये खबर दी गई। पूरी रात बेहोश रहने के बाद जब रोहिणी को सुबह होश आया तो परिवार वालों ने कहां ये भिखारी जैसे दिखने वाले शख्स ने ही तुम्हारी जान बचायीं जिसके बाद रोहिणी, रिक्शा वाला रमेश को गले लगाकर जोर-जोर से रोने लगी।
दरअसल, रमेश की पत्नी 4 साल पहले गुजर गई और एक बेटा था जो शराब पीने की वजह से 1 साल पहले ही गुजर गया था। 8 साल बाद रोहिणी अपनी कार से अॉफीस जा रही थी की तभी उसे सड़क के किनारे एक भिखारी दिखा, रोहिणी पहले तो आगे चली गयी लेकिन जब उसे कुछ याद आया तो उसने गाड़ी रोका और उस शख्स के पास भागकर गयी तो देखा की यह वहीं शख्स था जिसने 8 साल पहले रोहिणी की जान बचाई थी।
रोहिणी ने देखा की उसकी जान बचाने वाले रमेश अहिर को टी.बी हैं जिसके बाद रोहिणी ने रमेश को तुरंत अस्पताल भर्ती कराया और उसकी देखभाल करने लगी। रोहिणी का कहनां हैं की रमेश उनके पिता की तरह हैं जिसे वह अब अकेला बिल्कुल भी नहीं छोड़ेगी।