बीए पास लड़के से टीचर का था अफेयर, लड़के ने फोन नहीं उठाया तो कमरे में घुसकर किया ये काम

प्रेमिका एमएससी के फाइनल करने के बाद स्कूल टीचर थी। लड़की बीए सेकेंड ईयर का छात्र था। जूनियर क्लास में वो भी पढ़ाता था। निजी स्कूल में पढ़ाते पढ़ाते दोनों प्रेम का पाठ पढ़ने लगे। लड़की लड़के को चाहने लगी। दोनों शादी करने की तैयारी में थे, लेकिन एक दिन जब दोनों में झगड़ा हुआ और दोनों में दिन भर बात नहीं हुई तो लड़की लडके के कमरे में पहुंची और दोनों में गिला शिकवा हुआ, फिर लड़की ने लड़के की पिटाई की, लड़का जैसे ही बाहर निकला लड़की ने वो कदम उठा लिया जिसकी लड़के ने कभी सोचा भी न था।
loading...
जी हां कुछ ऐसी ही घटना सामने आई है, बरेली से जहां,  निजी स्कूल की एक टीचर ने प्रेमी से झगड़ा होने के बाद प्रेमी के कमरे में फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। युवती का दो वर्ष पहले बीडीए कॉलोनी में किराए पर रहने वाले शाहजहांपुर निवासी युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था। युवती अपने मां-बाप की इकलौती थी। स्वाती सुभासनगर के इंदिरानगर में रहती थी जबकि मनोज पास की ही बीडीए कालोनी में किराये के मकान में रहता है। मनोज का कहना है की उसका दो साल से स्वाती से अफेयर चल रहा था। दोनों एक ही प्राइवेट स्कूल में पढ़ाते थे और इसी दौरान उनकी एक दूसरे से नजदीकियां बढ़ गई। दोनों में प्यार मोहब्बत की बाते होने लगी। 
स्वाती का आये दिन मनोज  घर आना जाना रहना था। कुछ समय पहले स्वाती की दूसरी जगह घर वालो ने शादी तय की थी तो भी स्वाती ने शादी करने से इंकार कर दिया था। स्वाति एमएससी फाइनल कर चुकी थी जबकि मनोज बीएससी सेकंड ईयर का स्टूडेंट है। मनोज ने बताया की मंगलवार रात को उसने स्वाती को फोन किया था।  फोन पर मनोज ने स्वाती से कहा की तुम मेरा फोन क्यों नहीं उठाती इस पर स्वाती ने फोन पर ही मनोज को गालिया देना शुरू कर दी,  जिस पर मनोज ने फोन काट दिया। मनोज के घर आज दोपहर के वक्त स्वाती गई और उसके साथ मारपीट की। मनोज अपने रूम से जैसे ही बाहर निकला तभी स्वाती ने रूम अंदर से बंद कर लिया और पंखे से लटककर फांसी लगा ली।
स्वाती के फांसी लगाते ही मनोज ने आस पड़ोस के लोगो को इकट्टा किया और फिर करगैना पुलिस चौकी जाकर पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची सुभासनगर थाना पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, और प्रेमी मनोज को हिरासत में ले लिया है। वही स्वाति के पिता का कहना है की उन्हें स्वाती के अफेयर के बारे में कोई जानकारी नहीं है। उन्हें तो पुलिस ने सुचना दी की तुम्हारी लड़की ने फांसी लगा ली है जिसके बाद वो मौके पर पहुंचे। लड़की ने क्यों सुसाइड किया ये उन्हें जानकारी नहीं है। स्वाति की शादी छह माह पहले परिजनों ने दिल्ली के एक युवक से तय की थी। बाद में रिश्ता टूट गया था। वहीं, स्वाति मनोज से शादी करना चाहती थी। रिश्ता टूटने के पीछे यह भी एक वजह थी। 31 जनवरी को स्वाति का जन्मदिन था। 
मनोज ने उसे छह सात दिन पहले मोबाइल देने और पहले सोने की चेन गिफ्ट करने की भी बात कही। हालांकि स्वाति की मां का कहना है कि चेन उसने बनवाई थी। स्वाति और मनोज के बीच फोन पर क्या-क्या बातें होती थीं। यह सब दोनों के फोन में रिकार्ड हैं। पुलिस ने मनोज का मोबाइल कब्जे में ले लिया है। इंस्पेक्टर का कहना है कि दोनों के मोबाइल की रिकार्डिग सुनने के बाद ही सच मालूम पड़ेगा। बीडीए कॉलोनी में रहने वाला मनोज शाहजहांपुर का रहने वाला है। वह ढाई वर्ष से मोहल्ले में कमरा लेकर रहने लगा था। एक वर्ष तक मनोज भी वरूणदीप मेमोरियल जूनियर हाईस्कूल में पढ़ाता था, लेकिन उसके बाद उसने स्कूल की जॉब छोड़ दी और कोचिंग पढ़ाना शुरू कर दी।