पुलिस से बचने के लिए भाईसाहब ने अपना रूप बदल लिया, लेकिन एक गलती और...

बाबा के भेष में मिला भगोड़ा, पुलिस ने किया गिरफ्तार
गैगस्टर का अपराधी सात साल से पुलिस व जनता को बाबा का भेष धारण कर चूना लगा रहा था। युवक पर कई आपराधिक मुकदमे दर्ज होने पर इस पर गैगस्टर की कार्रवाई भी हो हो चुकी थी।
loading...
सन 2012 में जमानत कराकर फरार हुए युवक ने बाबा का रूप धारण कर गुन्नौर इलाके में एक मंदिर पर रहने लगा। मुखबिर की सूचना पर फरार गैगस्टर वारंटी को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। थाना जरीफनगर प्रभारी राकेश चौहान ने बताया कि वारंटी पकड़ो अभियान में सात साल से फरार चल रहे गैगस्टर हप्पू पुत्र अजयपाल निवासी ग्राम घोसली वाहन थाना गुन्नौर जनपद संभल की तलाश की थी।
मुखबिर की सूचना पर थाना जरीफनगर प्रभारी द्वारा गठित टीम एसआई अवधेश कुमार, दीवान राजेश प्रताप सिंह ने थाना गुन्नौर के गांव हुलकावाद के मंदिर पर दविश दी तो वहा मौजूद लंबी दाढ़ी मूंछ बाले बाबा से जानकारी ली तो बाबा हड़बड़ा गया। पूछताछ के दौरान बाबा रफूचक्कर होने की फिराक में था, तभी पुलिस को शक हुआ और उसे पकड़कर सख्ती से जानकारी ली तो उसने सब कुछ बता दिया।
2012 में जमानत करवाकर भाग निकालसन 2012 में जमानत कराकर पुलिस से बचने के लिए हप्पू बाबा का भेष धारण कर लिया और घर से दूर इधर उधर मंदिरों पर रहने लगा। जिससे लोग पहचान न सकें। जब लोग पहचान नहीं सके तो हुलकाबाद के मंदिर पर बाबा बनकर रहने लगा।