हैदराबाद के एक कैब ड्राइवर ने दान किए थे पैसे, अब उसी के लिए हुआ उसका इस्तेमाल

तेलंगाना के हैदराबाद के रहने वाले एक कैब ड्राइवर को लोगों ने उस वक्त हीरो कहा था, जब उसने बेहद गरीब होते हुए भी एक एनजीओ को 6 हजार रुपये दान किए थे। उसने एनजीओ को अनाथ बच्चों के अंतिम संस्कार के लिए ये पैसे दिए थे। लेकिन दो दिनों के बाद वो पैसे उसके ही अंतिम संस्कार के लिए इस्तेमाल किए गए।
loading...
विजय ने कथित तौर पर रेलवे ट्रैक के नीचे आकर मंगलवार को खुदकुशी कर ली। इसके साथ ही उसने एक विस्तृत सुसाइड नोट भी छोड़ा। जिसपर लिखा था कि वह एक अनाथ है और अकेला भी, तो किसी पर भी उसकी मौत का आरोप ना लगाया जाए। विजय के शव के मिलने से महज दो दिन पहले ही उसने एक एनजीओ 'सर्व नीडी' को कुछ पैसे दान किए थे।
इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर सामने आया, जिसमें देखा जा सकता है कि वह एनजीओ चलाने वाले गौतम कुमार को ये पैसे दे रहे हैं। वीडियो में गौतम ने कहा है कि एक कैब ड्राइवर होते हुए भी विजय सामने आए और उन्होंने ये पैसे दान किए हैं। गौतम ने लोगों से कहा था कि उन्हें विजय से प्रेरणा लेनी चाहिए। इस वीडियो को एनजीओ ने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए विजय की प्रशंसा की है। 
तस्वीरों में विजय के चेहरे पर मुस्कान दिख रही है। वह गौतम को खुशी से पैसे सौंप रहा है। जब बुधवार को गौतम को इस बात का पता चला कि विजय ने आत्महत्या कर ली है तो वह हैरान रह गए। विजय का अंतिम संस्कार भी बुधवार शाम को इसी एनजीओ के वॉलंटीयर्स द्वारा किया गया था। ये कार्य उन्हीं पैसों से किया गया, जिन्हें विजय ने खुद दान किया था।