चाचा-भतीजे में थी दोस्ती, लेकिन एकदिन जो हुआ वो किसी ने सोंचा भी नहीं था, जानिए....

फरीदाबाद के धौज थाना क्षेत्र के गांव सिलाखड़ी में चाचा ने मामूली बात पर आपा खो दिया और मीट काटने वाला छुरा घोंपकर अपने 22 वर्षीय भतीजे की हत्या कर दी। भतीजे का नाम कादिर है, वह खेतीबाड़ी करता था। आरोपित चाचा नफीस खान को धौज थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसके खिलाफ हत्या की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने शव बादशाह खान अस्पताल शवगृह में रखवाया है। मंगलवार को पोस्टमॉर्टम होगा।
loading...
जांच अधिकारी सब इंस्पेक्टर रामअवतार ने बताया कि कादिर के पिता जाकिर हुसैन की कुछ साल पहले मृत्यु हो चुकी है। कादिर के छह चाचा-ताऊ हैं। सभी गांव सिलाखड़ी में मकान बनाकर आस-पास रहते हैं। एक चाचा नफीस खान की शादी नहीं हुई, ऐसे में वह अपनी मां के पास रहता है। सोमवार दोपहर बाद नफीस खान की अपनी मां से किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई थी। गुस्से में नफीस खान बर्तनों व अन्य सामान को घर से बाहर फेंकने लगा। 
उसकी मां उसे रोकने की कोशिश कर रही थी, लेकिन वह मान नहीं रहा था। कादिर दादी की मदद करने पहुंचा और चाचा को रोकने की कोशिश की। पहले से ही गुस्साए नफीस खान को कादिर द्वारा टोका जाना बर्दाश्त नहीं हुआ। उसने रसोई में रखा मीट काटने वाला छुरा उठा लिया और कादिर के सीने में घोंप दिया। छुरा लगते ही कादिर लहूलुहान होकर वहीं गिर पड़ा। आस-पास मौजूद परिवार के अन्य सदस्यों ने कादिर को तुरंत पास स्थित अलफला मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया। 
डॉक्टरों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। मामले की सूचना धौज थाना पुलिस को दी गई। थाना प्रभारी कर्मबीर खटाना टीम के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने शव कब्जे में ले लिया। इसके बाद आरोपित नफीस खान को भी गिरफ्तार कर लिया गया। जांच अधिकारी सब इंसपेक्टर रामअवतार का कहना है कि आरोपित से पूछताछ की जा रही है। मंगलवार को उसे अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा।