प्रेमिका से शादी से मना करने पर बेटे ने जो किया माँ के साथ, जान कर आप के भी होश उड़ जाएंगे

आये दिन सनकी आशिकों की नई नई खबरें अख़बारों और न्यूज़ चैनल्स पर वायरल होती ही रहती हैं. आज भी हम आपके लिए एक ऐसी ही ख़बर लाये हैं, जिसे जान कर आपकी रूह भी कांप जाएगी. दरअसल, ये घटना पंजाब के जालंधर शहर की है. जहाँ, एक आवारा आशिक ने गुस्से में अपनी प्रेमिका की माँ को तेज धार वाले हथियार से वार करके मार डाला. जब अपनी माँ को दर्द से भागते हुए उसके बेटे ने देखा तो उसकी आँखें फटी की फटी रह गयी. बहरहाल, चलिए जानते हैं आखिर ये पूरी घटना क्या है…
loading...
मिली जानकारी के अनुसार जालंधर जिले के एक आदमी ने अपनी प्रेमिका की माँ को हथियार से मार डाला. दरअसल, लड़की की माँ को वह लड़का पसंद नहीं था और वह अपनी बेटी को उससे दूर रहने की हिदायत देती थी. लेकिन, उस इंसान के अंदर जाने ऐसा क्या आया जो अपने ही प्यार की माँ को मौत के घाट उतार डाला. जानकारी मिलते ही पुलिस ने मामले की छापेमारी करनी शुरू कर दी थी. जिसके बाद से ही वह आशिक अभी तक फ़रार है. मृतका की पहचान शरणजीत कौर पत्नी स्व. हरजीत सिंह के तौर पर हुई है. पुलिस को दीये गये एक बयान में हरप्रीत सिंह ने बताया कि वह और उसकी माँ हेल्थ कम्पनी में काम करते थे. शनिवार रात को वह दर्द से चिल्लाते हुए उसके सामने भागते हुए आई. 
जब उसने देखा तो वह खून से बुरी तरह लत पथ थी. अपनी मा का हाल देख हरप्रीत के पांव तले से ज़मीन खिसक गयी और वह अपनी माँ को उठा कर नजदीकी अस्पताल ले गया. लेकिन, तब तक देर हो चुकी थी और उसकी माँ दम तोड़ चुकी थी. इस हत्याकांड के बाद पुलिस भी हैरान थी कि आखिरकार खुनी था कौन? लेकिन, एडीसीपी सिटी वन कुलवंत सिंह हीर व एसीपी केंद्रीय सतिंदर चड्डा ने मामले की जांच शुरू की। जांच के दौरान कोई ऐेसा सबूत नहीं मिल पा रहा था, जिससे हत्यारे तक पहुंचा जा सके. हरप्रीत ने पुलिस को बताया कि उसकी एक बड़ी बहनइ जो कि कनाडा में पढाई कर रही है. मामले की कारवाई के दौरान जब पुलिस ने लद्देवाली इलाके में लगे सीसीटीवी की फुटेज को देखा तो उन्हें वहां एक शक्स शरनप्रीत के घर की तरफ आता हुआ उन्हेंखायी . जिसके बाद उन्होंने मृतिका की फेसबुक को चेक किया और उसमे उन्हें जालंधर के नीलामहल का रहने वाला सर्बजीत मिला. 
जिसके बाद पुलिस ने उसके बारे में पता लगाया तो वह घर से फ़रार था. इसके बाद पुलिस को जानकारी मिली कि सरबजीत दुबई में नौकरी करता था और मृतका की बेटी से शादी करना चाहता था. जानकारी के अनुसार अभी तक पुलिस को मृतिका की बेटी के सरबजीत के साथ संबंधों का पता नहीं चल पाया है. सरबजीत के अनुसार वह मृतका की बेटी से बहुत प्यार करता था. लेकिन, कनाडा जाने के बाद उसकी बेटी ने उसको भाव देने बंद कर दीये थे और खुद शरणप्रीत भी सरबजीत के सख्त खिलाफ थी. सर्बजीत सिंह ने इससे खफा होकर शरणजीत कौर के कत्ल की साजिश रची। वह नीलामहल इलाके से मोटरसाइकिल पर सवार होकर लद्देवाली पहुंचा और वहां पिछली दीवार फांदकर घर में घुस आया. जहां पर शरणजीत कौर सो रही थी.जिसके बाद उसने हथियार से शरणप्रीत केले एवं चेहरे पर वार करके उसको मार दिया.